.. राजीव शर्मा ..

पाकिस्तान के लाहौर शहर का एक वीडियो रोंगटे खड़े करने वाला है। 14 अगस्त को मीनार-ए-पाकिस्तान पर एक लड़की के कपड़े फाड़े गए, उसे हवा में उछाला गया। बेशर्मी के ठहाके लगाते ये लोग कोई दो-चार नहीं, बल्कि करीब 400 थे।

मैंने इस वीडियो के कुछ अंश देखे। वह लड़की रोए जा रही थी, छोड़ देने की गुहार लगा रही थी, लेकिन लोगों पर कोई असर नहीं हो रहा था। उन सबको वह एक 'सुनहरा मौका' लग रही थी, जिसे वे चूकना नहीं चाहते थे। उनके रवैए देखकर लग नहीं रहा था कि उन्हें अपने कृत्य पर कोई शर्मिंदगी, कोई पछतावा है।  

कोई शख्स इतना हैवान कैसे हो सकता है? और वह शख्स जो एक 'धार्मिक राष्ट्र' में रहता है! वीडियो ध्यान से देखें तो पाएंगे कि इनमें से बहुत लोगों ने ऐसे चिह्न धारण कर रखे हैं जिनसे पता चलता है कि वे बहुत धार्मिक हैं। फिर इनके करतूत ऐसे क्यों हैं? जिस मुल्क की बुनियाद से लेकर हर तरफ धर्म ही धर्म की चर्चा हो, वहां भी लोग ऐसी हरकतें क्यों कर बैठते हैं?  

अकेली लड़की देखकर उस पर भेड़ियों की टूट पड़ना दिखाता है कि सैकड़ों, हजारों साल बाद भी धर्म सभी लोगों को सभ्य नहीं बना पाया है। यह हाल तब है जब पाकिस्तान एक इस्लामी राष्ट्र है। क्या इस घटना को कोई यहूदियों और अमेरिका की साजिश बताएगा?

जरूर पढ़ें: धार्मिक राष्ट्र या सेकुलर राष्ट्र, आप किसे बेहतर मानते हैं?

मैं कई आलेखों में इस बात का उल्लेख कर चुका हूं कि अगर कोई यह सोचता है कि धार्मिक राष्ट्र बनाने मात्र से उसकी समस्याएं हल हो जाएंगी, तो वह बड़ी मूर्खता कर रहा है। जब तक उस देश के लोगों के आचरण में (अच्छे) बदलाव नहीं आते, वह इलाका एक पागलखाने से ज्यादा कुछ नहीं होगा। यह वीडियो मेरे शब्दों को सही ठहरा रहा है। पागलखाने का माहौल इससे ज्यादा सभ्य, शांत होता है।  

इसलिए अगर बदलना है तो अपने मन को बदलो, ईश्वरीय वचन से अपनी आत्मा को तृप्त करो। मुल्क पर मजहबी चोला चढ़ाने से कुछ नहीं बदलेगा, बल्कि समय-समय पर ऐसे दृश्य उपस्थित होंगे जो आपको शर्मसार करेंगे।

क्या आपने कभी सोचा है कि जिन गोरों को हम नंगा, शराबी, जाहिल वगैरह कहते हैं, वे ऐसी हरकतें क्यों नहीं करते? उन्हें तो छोड़िए, अपने पड़ोस में मौजूद चीन में शायद ही कभी ऐसी घटना हो। चीन ने अत्याधुनिक तकनीक से लड़कियों, महिलाओं को ऐसा माहौल उपलब्ध कराया है कि वे जब चाहे बाहर आ-जा सकती हैं। ये लोग समय के साथ सभ्य बन रहे हैं, वहीं हम धर्म के नाम पर दिखावा कर ज्यादा पतन की ओर जा रहे हैं।

भारत और पाकिस्तान दोनों ही महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा असुरक्षित देशों में शामिल हैं। भारत में निर्भया बलात्कार एवं हत्याकांड ने पूरे देश को झकझोर दिया था। दोषियों को फांसी हो गई, फिर भी कुछ नहीं बदला। ऐसे अपराध रोज हो रहे हैं। नवरात्र में भी नहीं रुकते, तब जबकि पूरा देश देवी की आराधना कर रहा होता है। ठीक उसी तरह जैसे पाकिस्तान में रमज़ान के दौरान इंटरनेट पर अश्लील सामग्री खूब देखी जाती है। इतनी ज्यादा कि यह मुल्क इस मामले में पहले नंबर पर आ गया है। यकीन न हो तो List of top 10 porn watching countries according to google research चेक कर लें। जिन गोरों को हम बेशर्म कहते हैं, वे टॉप 10 में भी नहीं हैं।

फिर कैसे यह दावा कर सकते हैं कि हम बहुत पाक, पवित्र और नेक लोग हैं। असल में हम मानसिक रूप से कुंठित लोग हैं। हमने दुनिया को दिखाने के लिए अपनी नकली छवि बना रखी है। हकीकत में हम कुछ और हैं। अगर लोग ऐसे होंगे तो चाहे आप इस्लामी राष्ट्र बना लें या हिंदू राष्ट्र, हाल ऐसे ही रहेंगे, कुछ नहीं बदलने वाला।

जरूर पढ़ें: भारत के सिर्फ समझदार लोग मेरे इन 11 सवालों के जवाब दें, बाकी आराम करें

धर्म एक ऊंचा आदर्श है। हर कोई वास्तविक रूप में इसका पालन नहीं कर पाता। जैसे: धर्म कहता है कि 'तुम्हें ईश्वर देख रहा है। अगर बुरा कर्म करोगे तो बुरा फल मिलेगा, अच्छा कर्म करोगे तो अच्छा फल मिलेगा।' यह बहुत ऊंचा आदर्श है। जो वास्तव में इसका पालन करेगा, उसके सामने चाहे करोड़ों की दौलत रख दो, वह उसे हाथ नहीं लगाएगा। उसके साथ अकेली औरत बैठी हो, वह अपनी मर्यादा से नहीं डिगेगा।  

कोई भी धार्मिक राष्ट्र ऐसे लोगों के साथ बहुत आसानी से आगे बढ़ सकता है। पर ज्यादातर लोग ऐसे नहीं होते। इसलिए अपना आदर्श छोटा करो, सीसीटीवी कैमरे लगाओ, कानून व्यवस्था में सुधार करो और अपराधियों के मामले में सख्ती बरतो। तब मामला काबू में आएगा, तब कोई बदमाशी करने से पहले हजार बार सोचेगा।  

अगर लोगों का आचरण नहीं बदलता तो दुनिया का कोई धर्म उन्हें सभ्य नहीं बना सकता। ऐसे लोग चाहे जितनी प्रार्थनाएं और तीर्थयात्रा कर लें, हालात 'ढाक के तीन पात' ही रहेंगे। इन्हें धार्मिक राष्ट्र मिलना मानव इतिहास की सबसे बड़ी दुर्घटना होगी, जिसके परिणाम समाज को भुगतने ही होंगे।

(अच्छी बातें पढ़ने के लिए इस वेबसाइट पर अपना अकाउंट बनाइए और मुझे फॉलो कीजिए)

मेरे साथ फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम आदि पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए  

#Lahore #14August #MinarePakistan #LahoreIncident #LahoreGirl #RajeevSharma1stStory #WriterRajeevSharma