नयी दिल्ली, 23 मई (भाषा) सीबीआई ने उप्र सहकारी चीनी मिल्स संघ के पूर्व प्रबंध निदेशक बी के यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले में प्राथमिक जांच (पीई) दर्ज की है।

यादव पर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के शासनकाल में वर्ष 2013-17 के दौरान कर्मचारियों के तबादले, नियुक्ति और पदोन्नति के लिए घूस लेने का आरोप है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने 10 नवंबर 2017 को यादव के खिलाफ लगे आरोपों की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी, जिसे इस साल एक अप्रैल को केंद्र द्वारा जांच एजेंसी को भेजा गया।

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं, जहां सत्तारूढ़ भाजपा का मुकाबला समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस समेत अन्य दलों से होगा।

सीबीआई ने इस मामले में पीई दर्ज की है जोकि इस बात की पड़ताल करने का पहला कदम है कि प्राथमिकी दर्ज किए जाने के लिए प्रथम दृष्टया पर्याप्त साक्ष्य हैं।

राज्य सरकार ने लखनऊ के आयुक्त की निगरानी में जांच गठित की थी जिसने यादव पर चीनी मिल्स संघ के कर्मचारियों की नियुक्ति, तबादले और पदोन्नति में अवैध धन अर्जित करने का आरोप लगाया था।

इसके अलावा, सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाले लाभ समेत अन्य भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच सीबीआई करेगी।