केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को घोषणा की कि 22 से 29 सितम्बर तक 10वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए पूरक परीक्षाओं के साथ कक्षा 12वीं की परीक्षाओं में अंकों में सुधार के इच्छुक छात्रों के लिए वैकल्पिक परीक्षा भी होगी.

बोर्ड ने कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर परीक्षार्थी सैनिटाइजर साथ लेकर जाएंगे और मास्क पहनेंगे. सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने आधिकारिक अधिसूचना में परीक्षा कार्यक्रम का विवरण दिया.

इसमें कहा गया है, ‘‘दोनों कक्षाओं के लिए पूरक परीक्षाएं 22 सितम्बर से शुरू होगी और 29 सितम्बर तक चलेंगी. सभी परीक्षार्थियों को पारदर्शी बोतलों में सैनिटाइजर साथ में लाना होगा और मास्क या कपड़े से अपने मुंह और नाक को ढंकना आवश्यक होगा.’’

इससे पहले दिन में सीबीएसई ने 12वीं कक्षा की पूरक परीक्षाएं स्थगित करने के लिए दायर याचिका का उच्चतम न्यायालय में विरोध किया.

बोर्ड ने कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर छात्रों की सुरक्षा के लिये सभी आवश्यक कदम उठाये गये हैं.

याचिका में 12वीं कक्षा की पूरक परीक्षाएं कराने के सीबीएसई के फैसले को चुनौती देते हुये कहा गया था कि यह परीक्षार्थिंयों की सेहत के लिये नुकसानदेह होगा. शीर्ष अदालत मामले की अगली सुनवाई 10 सितम्बर को करेगी.

भारद्वाज ने कहा, ‘‘कक्षा 12वीं के जिन छात्रों के परिणाम की घोषणा मूल्यांकन आधार पर कर दी गई है और वे अपने अंकों में सुधार करना चाहते हैं तो उनके लिए वैकल्पिक परीक्षा कक्षा 10वीं और 12वीं की पूरक परीक्षाओं के साथ होगी. इन वैकल्पिक परीक्षाओं में प्राप्त किये गये अंकों को अंतिम समझा जाएगा.’’