जयपुर, 19 अप्रैल (भाषा) राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने सोमवार को आरोप लगाया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति में केन्द्र सरकार राज्यों के साथ भेदभाव कर रही है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र गुजरात को 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा था जबकि राजस्थान को केवल 124 मीट्रिक टन आपूर्ति की जा रही है जिसके चलते अराजकता की स्थिति पैदा हो रही है।

उन्होंने कहा कि पिछली बार अलवर के भिवाड़ी में स्थित तरल ऑक्सीजन प्लांट हमारे नियंत्रण में था इसलिए ऑक्सीजन आपूर्ति में कोई समस्या नहीं हुई, लेकिन अब सभी ऑक्सीजन प्लांट और उसकी आपूर्ति केन्द्र सरकार के नियंत्रण में है।

उन्होंने कहा कि गुजरात और राजस्थान में संक्रमण के समान मामले आ रहे हैं लेकिन गुजरात को जहां 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन कीआपूर्ति हो रही है और राजस्थान को लेकर 124 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिल रहा है... ऐसे में लोगों का जीवन कैसे बचायेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य में कोविड-19 के टीके की कमी को लेकर केन्द्र पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी तैयारी राज्य में रोज सात लाख लोगों को टीका लगाने की थी ताकि चार से छह सप्ताह के भीतर टीकाकरण का लक्ष्य पूरा कर लिया जाए, लेकिन अब हमारे पास इंजेक्शन ही नहीं है।

शर्मा ने कहा कि रेमडेसिविर और टोसिलिजुंब की कमी को पूरा करने के लिये भारत सरकार को कदम उठाने चाहिए।

उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिये आयु सीमा की बाध्यता समाप्त करने को लेकर मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा है।

भाषा कुंज अर्पणा

अर्पणा