रायपुर, 22 मई (भाषा) छत्तीसगढ़ में 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों को टीकाकरण के दौरान दिये जाने वाले प्रमाण पत्र में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की तस्वीर लगाई जा रही है, जिसका राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने विरोध किया है।

भाजपा ने जहां सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी पर टीकाकरण के बजाय फोटो प्रचार पर अधिक ध्यान केंद्रित करने का आरोप लगाया है। वहीं कांग्रेस ने कहा है कि जब राज्य सरकार इस आयु वर्ग में टीकाकरण का खर्च वहन कर रही है तब वह प्रमाणपत्रों पर अपने मुख्यमंत्री की फोटो का उपयोग क्यों नहीं कर सकती है।

राज्य सरकार ने 18 से 44 वर्ष की श्रेणी में टीकाकरण कराने वाले लाभार्थियों के पंजीकरण के लिए अपना पोर्टल 'सीजी टीका' बनाया है। जिन लोगों ने इस पर पंजीकरण किया है, उन्हें मुख्यमंत्री बघेल की तस्वीर के साथ डिजिटल प्रमाण पत्र मिल रहे हैं।

इस पोर्टल में उन लोगों के लिए ऑफलाइन पंजीकरण की सुविधा है जिनके पास स्मार्टफोन या इंटरनेट की सुविधा नहीं है।

प्रमाण पत्र में मुख्यमंत्री की फोटो को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि राज्य सरकार 18 से 44 वर्ष की श्रेणी में लोगों के टीकाकरण का खर्च वहन कर रही है इसलिए यह केंद्र का कार्यक्रम नहीं रह गया है। जब यह राज्य का कार्यक्रम बन गया है तो प्रमाण पत्र पर राज्य के मुख्यमंत्री की फोटो होने पर कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

सिंहदेव ने कहा कि केंद्र 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए धन मुहैया करा रहा है। इस श्रेणी के लोगों को जारी किए गए प्रमाण पत्र कोविन पोर्टल के माध्यम से प्रधानमंत्री की तस्वीर के साथ जारी किए गए हैं।

इधर, भाजपा ने राज्य सरकार पर लोगों का टीकाकरण के बजाय फोटो प्रचार पर अधिक ध्यान देने का आरोप लगाया है।

राज्य में भाजपा के वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि पूरा देश केंद्र के ऐप का उपयोग कर रहा है। यह ऐप अच्छा काम कर रहा है। लेकिन सिर्फ फोटो के लिए राज्य सरकार ने अपना ऐप लॉन्च किया है। यह भी सवालों के घेरे में है कि क्या राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए प्रमाण पत्र विदेश यात्रा के लिए पात्र होंगे।

अग्रवाल ने कहा कि राज्य सरकार लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है।

भाषा संजीव

जोहेब

जोहेब