देहरादून, 23 मई (भाषा) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कोविड रोधी व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए रविवार को बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों का दौरा किया तथा इस दौरान वहां पीपीई किट पहनकर अस्पतालों में भर्ती कोविड मरीजों से मिलकर उनका हाल-चाल जाना।

पहले मुख्यमंत्री रावत बागेश्वर पहुंचे जहां उन्होंने कोरोना संक्रमण के नियंत्रण एवं उपचार के लिए कोविड चिकित्सालय एवं कोविड देखरेख केंद्र में की गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

उन्होंने जिला चिकित्सालय में बच्चों के लिए बनाए गए वार्ड का भी निरीक्षण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने पीपीई किट पहनकर चिकित्सालय में भर्ती कोविड मरीजों से मिलकर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली।

बाद में, रावत पिथौरागढ़ पहुंचे और सीधे जिला बेस अस्पताल जाकर वहां कोविड देखरेख केंद्र का निरीक्षण किया।

जिला चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड एवं आइसीयू वार्ड में जाकर भर्ती कोविड मरीजों से बातचीत की और उन्हें शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की शुभकामनाएं दीं । इस दौरान उनके साथ पीपीई किट पहनकर अल्मोड़ा से सांसद अजय टम्टा भी मौजूद रहे ।

निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने चिकित्सालय में कार्यरत डॉक्टरों, नर्सों एवं अन्य कर्मचारियों से बातचीत कर मरीजों को उपलब्ध करायी जा रही सुविधा के संबंध मे जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि कोविड महामारी की रोकथाम के लिए सभी डॉक्टरों एवं अन्य कर्मियों द्वारा पूर्ण मनोयोग से कार्य किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने चिकित्सालयों में ऑक्सीजन व दवा आदि की व्यवस्था पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रखे जाने के भी निर्देश दिए।

इससे पहले, बागेश्वर में एक समीक्षा बैठक लेते हुए मुख्यमंत्री ने कोविड महामारी की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए ग्राम स्तर पर गठित निगरानी समिति के और अधिक बेहतर ढंग से कार्य करने तथा अधिक से अधिक नमूनों की जांच पर बल दिया।

उन्होंने कहा कि कि किसी व्यक्ति में महामारी के लक्षण आने पर उसे तत्काल स्वास्थ्य परीक्षण के लिए प्रेरित किया जाए तथा अधिक से अधिक लोगों की जांच करायी जाए।

उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता सभी को संकट की इस घड़ी में बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है जिसके लिए प्रदेश के सभी चिकित्सालयों में आईसीयू एवं वेंटिलेटर बिस्तर के साथ ही ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र भी बढ़ाए गए हैं ।

रावत ने कहा कि इसके अलावा ब्लॉक स्तर पर संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

मुख्यमंत्री ने आइवरमेक्टिन दवा को प्राथमिकता के साथ सभी लोगों को उपलब्ध कराने तथा टीकाकरण के विषय में व्यापक प्रचार-प्रसार पर भी जोर दिया।

भाषा दीप्ति नेत्रपाल

नेत्रपाल