लद्दाख में LAC पर 15 जून को भारत और चीन की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों के बीच रिश्तों में काफी खटास आई है. सीमा पर दोनों देश अपनी सेना और हथियारों का जमावड़ा बढ़ा रहे हैं. इसी बीच भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए टिक टॉक समेत चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है. देश में चल रही टिक टॉक पर चर्चा के बीच चीन से टिक टॉक से जुड़ी एक दिलचस्प खबर आई है. चीन में एक टिक टॉक यूजर को वहां की सरकार ने इसलिए बैन कर दिया क्योंकि उसकी शक्ल चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिलती है.

चीन के फेमस ओपेरा सिंगर लिउ केकिंग को चीन के राष्ट्रपति से शक्ल मिलने की सजा भुगतनी पड़ी है. 'डेली मेल' में छपी खबर के मुताबिक, चीनी सरकार ने टिक टॉक ऐप के चीनी वर्जन 'Douyin' पर लिउ के अकाउंट पर प्रतिबंध लगा दिया है. उनपर आरोप है कि वह चीन के राष्ट्रपति की शक्ल का फायदा उठा रहे हैं. बर्लिन में रहने वाले 63 वर्षीय लिउ पर टिक टॉक पर वीडियो बनाने से रोक लगा दी गई है.

लिउ अपने टिक टॉक वीडियो में ओपेरा गाते हैं. टिक-टॉक पर लिउ के 41 हजार से अधिक फॉलोवर्स हैं. 'Douyin' पर उनका अकाउंट पिछले साल से कई बार निलंबित किया जा चुका है. लिउ ने 10 मई को एक वीडियो साझा करते हुए इस बात की जानकारी दी कि उनका अकाउंट बंद कर दिया गया है.

लिउ के अकाउंट को बंद करने का कारण इमेज वायलेशन बताया गया है. लिउ ने लिखा प्यारे दोस्तों मेरा Douyin पर अकाउंट बंद कर दिया गया है और इसका कारण मेरी शक्ल राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिलना है. उन्होंने ये भी लिखा कि वह कई बार चीनी सरकार को अपनी पहचान दिखा चुके है और अब लिउ को इस बात का इंतजार है कि उनके अकाउंट पर लगा प्रतिबंध हट जाए. बता दें कि लिउ का Douyin पर साझा किया गया वीडियो भी चीनी सरकार ने हटवा दिया है, साथ ही उनके दोबारा बनाए गए अकाउंट को भी डिलीट कर दिया गया है.