लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) ने शुक्रवार को बिहार में चुनाव कार्यक्रम घोषित होने का स्वागत करते हुए कहा कि यह चुनाव राज्य में बेहतरी की नयी कहानी लिखेंगे. लोजपा ने पूर्व में चुनाव आयोग से कोविड-19 के मद्देनजर राज्य में चुनाव टालने की अपील की थी.

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि बिहार चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकसित बिहार के सपने और उनके अभिभावक रामविलास पासवान के 50 वर्षों के कार्यों को बिहारवासियों के सामने रखने का अवसर है.

उन्होंने ट्वीट किया कि चुनाव की घोषणा के इस महत्वपूर्ण अवसर पर वह थोड़े भावुक हैं क्योंकि उनके पिता अस्पताल में है और मार्गदर्शन करने वाले उनके शब्दों की कमी महसूस कर रहे हैं .

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान अभी अस्पताल में हैं और परिवार के सूत्रों के कहा कि उनकी हालत स्थिर है.

बहरहाल, चिराग पासवान ने कहा कि पिछले पांच दशकों में पहली बार ऐसा हुआ है जब उनके पिता इस चुनाव में बिहार में उपस्थित नहीं होंगे और उन्हें विश्वास है की वह जल्द डिजिटल माध्यम सभी बिहारवासियों से जुड़ेंगे.

उन्होंने कहा, ‘‘बिहार चुनाव की तारीख़ों की घोषणा हो गई है.चुनाव आयोग के फ़ैसले का लोक जनशक्ति पार्टी सहर्ष स्वागत करती हैं. साल 2020 के चुनाव बिहार में बेहतरी की नई कहानी लिखेंगे.’’

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से लोजपा और नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले जद(यू) के बीच जुबानी जंग जारी है. लोजपा ने यह संकेत दिया है कि पार्टी चुनाव में जद(यू) के उम्मीदवारों के खिलाफ अपना प्रत्याशी उतार सकती है.

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तीन चरणों में, 28 अक्टूबर, तीन नवंबर और सात नवंबर को, मतदान होगा जबकि सभी चरणों के लिए मतगणना 10 नवंबर को होगी. निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को यह घोषणा की.