पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि, किसान आंदोलन में मारे गए किसानों के परिवार में से एक को नौकरी दी जाएगी.

अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को आंदोलन में मारे गए किसानों के प्रति सहानुभूति व्यक्त किया. उन्होंने बताया कि 76 किसानों के मरने की रिपोर्ट मिली है.

सीएम ने ऐलान करते हुए कहा कि इन किसानों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा और परिवार में से किसी एक को नौकरी दी जाएगी.

अमरिंदर सिंह ने अपने फेसबुक लाइव कार्यक्रम में इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्यों की सलाह लिए बगैर ये कानून बना दिए हैं, जबकि खेती राज्य का विषय है और केंद्र के पास इस तरह का कानून बनाने का अधिकार नहीं है.

उन्होंने सवाल किए कि, क्या इस देश में एक संविधान है? कृषि अनुसूची के तहत एक राज्य का विषय है. केंद्र ने संसद में चर्चा के बिना इसे क्यों बदल दिया? उन्होंने इसे लोकसभा में पारित कर दिया क्योंकि वे अधिक सदस्य थे. राज्यसभा में, इसे अराजकता में पारित किया गया क्योंकि उन्हें लगा कि चीजें गलत हो सकती हैं.