उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तालिबान के समर्थन में राज्य में कुछ लोगों के तथाकथित बयान पर तीखा हमला बोला है. सीएम योगी ने कहा, "कुछ लोग तालिबान का समर्थन कर रहे हैं. वहां महिलाओं और बच्चों के साथ क्या क्रूरता की जा रही है. परन्तु कुछ लोग बेशर्मी से तालिबान का समर्थन कर रहे हैं. इन सभी के चेहरे एक्सपोज किए जाने चाहिए." 

दरअसल, सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी ने तालिबानी आतंकियों के पक्ष में बयान दिया था. 

यूपी विधानसभा में सीएम के अन्य मुख्य बातें 

* पिछले 5 वर्ष के दौरान प्रदेश में बज़ट का दायरा लगभग दोगुना हुआ. आज हम लगभग 6 लाख करोड़ रुपये तक बज़ट के दायरे को पहुंचाने में सफल रहे हैं. बड़ी सोच, बड़े कार्य तो बज़ट का दायरा भी बड़ा होगा. 

प्रदेश की GSDP 5 वर्ष पहले 10-11 लाख करोड़ के आसपास थी आज हम इसे 20-21 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचें में सफल हुए हैं. 2015-16 में उत्तर प्रदेश देश अर्थव्यवस्था में 6 नंबर पर थे. उत्तर प्रदेश आज नंबर 2 की अर्थव्यवस्था बनी है.

यह पहली महामारी है जिसमें एक भी गरीब भूखा नहीं मरा. हमें महामारी को तो स्वीकार करना होगा नहीं तो बीमारी के उपचार के लिए और बीमारी से बचाव के लिए कोई अभियान आगे नहीं बढ़ पाएगा.

व्यवसाय की सुगमता क्या होनी चाहिए इसपर हमने व्यापक संशोधन किए, नीतियां बनाई जिसके परिणाम सामने हैं. अगर दुनिया में भारत निवेश का सबसे अच्छा देश है, तो देश में उत्तर प्रदेश सबसे अच्छा गंतव्य है. इज ऑफ डूइंग बिजनेस में उ.प्र. 16वें स्थान से दूसरे स्थान पर आया है.

आज उत्तर प्रदेश में कोविड के लिए 4 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है. अब तक 7 करोड़ टेस्ट उत्तर प्रदेश में किए जा चुके हैं.

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में मेजर ध्यानचंद के नाम पर स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बनेगी: योगी आदित्यनाथ

यह भी पढ़ें: यूपी सरकार ने ओलंपिक खिलाड़ियों को सम्मानित किया, जानें किसको कितनी पुरस्कार राशि दी