कांग्रेस हरियाणा विधानसभा में भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार के विरुद्ध बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव लाएगी और इसके मद्देनजर पक्ष एवं विपक्ष दोनों ने अपने-अपने सदस्यों को सदन में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के लिए व्हिप जारी किया है.

हरियाणा सरकार के मंत्री एवं भाजपा के मुख्य सचेतक कंवर पाल ने कहा, “हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र के दौरान भारतीय जनता विधायक दल के सभी सदस्यों से 10 मार्च को सदन में लगातार उपस्थित रहने का अनुरोध किया जाता है.”

यह भी पढ़ेंः त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड के 8वें मुख्यमंत्री जो पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर सके

व्हिप जारी करते हुए उन्होंने कहा, “नेतृत्व की अनुमति के बिना वह सदन से बाहर न जाएं. चर्चा के दौरान कई महत्वपूर्ण मामलों पर चर्चा होगी. सदस्यों से अनुरोध है कि वे मतविभाजन और मतदान के समय उपस्थित रहें.”

भाजपा के सहयोगी दल जजपा ने भी अपने विधायकों को व्हिप जारी किया है.

कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता एवं मुख्य सचेतक बी बी बत्रा ने कहा, “कांग्रेस विधायक दल, हरियाणा के सदस्यों को सूचित किया जाता है कि सदन में सरकार के विरुद्ध 10 मार्च को अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा.“

यह भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले इलेक्शन कमीशन ने कथित 'TMC समर्थक' पुलिस प्रमुख को हटाया

उन्होंने कहा, “मैं व्हिप जारी करता हूं कि आप अनिवार्य रूप से 10 मार्च को सुबह 10 बजे सदन में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करें और अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान का समर्थन करें. सदस्यों से अनुरोध है कि वे सीएलपी नेता से अनुमति लिए बिना सदन से बाहर न जाएं.”

हरियाणा विधानसभा में 90 सीटें हैं और वर्तमान में 88 सदस्य हैं. उनमें से भाजपा के 40, जजपा के 10 और कांग्रेस के 30 सदस्य हैं.

यह भी पढ़ेंः नये IT नियमों के खिलाफ दायर याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सरकार को भेजा नोटिस

सात निर्दलियों में से पांच सरकार को समर्थन दे रहे हैं. इसके अलावा एक सदस्य हरियाणा लोकहित पार्टी का है और वह भी सरकार के समर्थन में है.