गेहूं के आटे के रिफाइंड को मैदा कहते हैं और मैदा बनाने के लिए आटे को कई बार बारीक और महीन पीसा जाता है. मैदे का इस्तेमाल आमतौर पर ब्रेड, क्रैकर्स, कुकीज, पिज्जा बेस, भटूरा और दूसरी कई चिकनी चीजों को बनाने के लिए किया जाता है. मैदा को किसी भी रूप से बना लो वो अच्छा ही लगता है लेकिन मैदे का अत्यधिक सेवन से पाचन क्रिया में गड़बड़ी आती है, आसान भाषा में कहें तो मैदा ज्यादा खाना सेहत को नुकसान पहुंचाता है.

यह भी पढ़ें- Summer Skin Care: गर्मियों में अपनी त्वचा को रखें सुरक्षित, फॉलो करें ये आसान टिप्स

एसिड-एल्कलाइन असंतुलन बनना- शरीर का स्वस्थ पीएच स्तर 7.4 पाया जाता है. डाइट में एसिडिक खाद्य पदार्थ की मात्रा ज्यादा होती है जिससे कैल्शियम की कमी होती है. अनाज को एसिडिक फूड माना जाता है. एक रिसर्च के अनुसार, खाने में मैदे का ज्यादा इस्तेमाल हड्डियों को नुकसान पहुंच सकता है.

ब्लड शुगर बढ़ता है- अगर आप गेहूं का इस्तेमाल खाने में ये सोचकर करते हैं ये शरीर को हेल्दी रखेगा तो ऐसा नहीं है. गेहूं के आटे से बनी खाने की चीजें शरीर के लिए कभी-कभी हानिकारक साबित हो सकती है. वैसे ही मैदे का अत्यधिक सेवन भी आपको नुकसान दे सकता है. गेहूं की ब्रेड के सिर्फ दो स्लाइस शरहीर में ब्लड शुगर के लेवल को 6 चम्मच चीनी की तरह बढ़ाता है.

यह भी पढ़ें- क्या है Zika Virus? केरल में 14 मामले सामने आए, बन सकता है अगली महामारी

शरीर में आती है सूजन- अनाज युक्त आहार शरीर में सूजन का कारण बन सकता है. इसमें ब्लड शुगर का लेवल बढ़ता है जो रक्त में ग्लूकोज का निर्माण करता है. जिसे ग्लाइकेशन रिएक्शन कहते हैं और यह शरीर में सूजन जैसी बीमारियों को बढ़ावा देता है.

आंतों में सूजन- एक रिसर्च के मुताबिक, अनाज में पाया जाने वाला लेक्टिन आंत की परस में सूजन का कारण बनता है. जब आप मैदा खाते हैं तो उसमें से 80 प्रतिशत फाइबर खत्म होता है और शरीर को फाइबर नहीं मिलने से शरीर से कार्बोहाइड्रेट तेजी से रिलीज होता है जिसकी वजह से आंतों में सूजन आती है और शरीर की गंदनी साफ नहीं हो पाती है.

डिस्क्लेमर- इस लेख में लिखी सभी बातें सामान्य जानकारी के आधार पर है. अगर आपको कोई कंफ्यूजन है तो इसके सेवन से पहले आपको एक बार एक्सपर्ट्स से सलाह ले लेनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: डेल्टा से भी ज्यादा जानलेवा है कोरोना का नया Lambda Variant, जानिए इसके बारे में सब कुछ

ये भी पढ़ें: अब प्रेग्नेंट महिलाओं को भी लगेगी कोरोना वैक्सीन, हेल्थ मिनिस्ट्री ने दी मंजूरी