भोपाल, 22 मई (भाषा) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में लागू कोरोना कर्फ्यू के प्रतिबंधों में आगामी एक जून से धीरे-धीरे ढील दिए जाने की शनिवार को घोषणा की।

प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति की समीक्षा बैठक में शनिवार को मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, ‘‘ हमारा लक्ष्य 31 मई तक हमारे राज्य को कोविड-19 से मुक्त करना है। कोरोना संक्रमण के कारण लगाए गये कोरोना कर्फ्यू को हमें धीरे-धीरे अनलॉक करना होगा। दुनिया को आगे बढ़ना है लेकिन हमें इस तरह से अनलॉक करना है कि कोविड-19 फिर से नहीं फैले।’’

प्रदेश सरकार द्वारा अप्रैल में लगाये गये लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों को इस बार ‘‘कोरोना कर्फ्यू ’’ नाम दिया गया। भोपाल, इन्दौर सहित प्रदेश के अधिकांश जिलों में इसे 31 मई तक बढ़ाया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़े शहरों के कई इलाके कोविड-19 से मुक्त हो चुके हैं। उन स्थानों की पहचान करें जहां कोरोना वायरस का संक्रमण अभी भी मौजूद है। इन इलाकों को सूक्ष्म निषिद्ध जोन बनाया जाए। संक्रमित व्यक्ति या तो घर में रहे या उसे कोविड पृथक-वास केंद्र में रखा जाये।

चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण दर शनिवार को गिरकर 4.82 फीसद पर आ गई है जबकि संक्रमण की दूसरी लहर के चरम में यह दर 20 प्रतिशत से अधिक हो गई थी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि शनिवार को प्रदेश में कराये गये कुल 79,737 परीक्षणों में 3,844 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है जबकि शनिवार को 9,327 रोगी स्वस्थ हुए हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण से ठीक होने की दर 90.86 प्रतिशत हो गई है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना को समाप्त करने के अभियान का तीसरा चरण 24 मई को पूरा हो जायेगा। उन्होंने इसके तुरंत बाद अभियान का चौथा चरण शुरु करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

भाषा दिमो शफीक