रक्षा मंत्री राजस्थान सिंह और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की मौजूदगी में सोमवार को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने कोविड-19 रोधी दवा 2-डीजी (2-DG) का पहला बैच जारी किया. बता दें कि कोरोना के मध्यम लक्षण वाले और गंभीर लक्षण वाले मरीजों पर 2-डीजी दवा के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी डीजीसीआई से मिल चुकी है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर बताया, "आज जारी किए जाने के बाद 2-DG एंटी कोविड दवा के पहले बैच को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन को सौंपा."

रक्षा मंत्रालय ने आठ मई को एक बयान में कहा था कि 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-DG) के क्लीनिकल परीक्षण में पता चला है कि इससे अस्पताल में भर्ती मरीजों की ऑक्सीजन पर निर्भरता को कम करने में मदद मिलती है. साथ ही इस दवा से मरीज जल्दी ठीक होते हैं.

ये भी पढ़ेंः आप नेता ने मोदी के विरोध में पोस्टर लगाने की जिम्मेदारी लेते हुए कहा- 'गरीबों को परेशान मत कीजिए'

क्या है 2-DG?

इस दवा का नाम 2 डीऑक्सी- डी- ग्लूकोज़ है जिसे शॉर्ट में 2-DG भी कहा जा रहा है. इस दवा को ऐसे समय में मंजूरी मिली है जब भारत कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के चपेट में है और देश के स्वास्थ्य ढांचे पर इसका गहरा असर पड़ा है.

कोविड-19 रोधी इस दवा को DRDO की अग्रणी प्रयोगशाला नाभिकीय औषधि तथा संबद्ध विज्ञान संस्थान (INMAS) ने हैदराबाद के डॉक्टर रेड्डीज लैब के साथ मिलकर विकसित किया है. ये दवा एक सैशे में पाउडर के रूप में उपलब्ध रहेगी जिसे पानी में मिलाकर मरीजों को पीना है.

ये भी पढ़ेंः देश में कोरोना के मामलों में गिरावट, गौतम गंभीर बोले- 'दिल्ली में कोरोना कम नहीं टेस्ट कम हो रहे'