भारत सरकार ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि एक मई से देश में 18 साल के ऊपर सभी लोग कोरोना वैक्सीन लगवाने के पात्र होंगे. केंद्र सरकार ने 1 मई से COVID-19 टीकाकरण के तीसरे चरण के रणनीति की घोषणा की है.

ये भी पढ़ें: Delhi Lockdown: लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में किन-किन चीजों पर रहेगी पाबंदी

सरकार ने टीकाकरण अभियान में ढील देते हुए राज्यों, निजी अस्पतालों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों को सीधे टीका निर्माताओं से खुराक खरीदने की अनुमति भी दे दी.

अगले महीने से शुरू हो रहे तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान के तहत वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां अपनी केंद्रीय औषधि प्रयोगशालाओं (CDL) से हर महीने जारी खुराकों की 50 प्रतिशत आपूर्ति केंद्र सरकार को देंगे और बाकी 50 प्रतिशत आपूर्ति को वे राज्य सरकारों को तथा खुले बाजार में बेचने के लिए स्वतंत्र होंगे.

ये भी पढ़ें: इलाहाबाद HC ने यूपी के 5 शहर में लॉकडाउन का निर्देश दिया, योगी सरकार नहीं मानी 

वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को राज्य सरकारों को और खुले बाजार में उपलब्ध होने वाली 50 प्रतिशत आपूर्ति की कीमत एक मई, 2021 से पहले घोषित करनी होगी.  इसी मूल्य के आधार पर राज्य सरकारें, निजी अस्पताल, औद्योगिक प्रतिष्ठान आदि पक्ष टीका निर्माताओं से टीकों की खुराक खरीद सकेंगे. 

स्वास्थ्य कर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर रहकर काम करने वाले लोगों और 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए टीकाकरण पहले की तरह सरकारी केंद्रों पर नि:शुल्क होगा. 

ये भी पढ़ें: कोरोना के लक्षण होने के बावजूद रिपोर्ट नेगेटिव आने पर कराएं ये जांच