लंदन, 23 मई (भाषा) फुटबॉल के मुकाबले बार्सिलोना में क्रिकेट की लोकप्रियता कहीं नहीं ठहरती लेकिन लियोनेल मेस्सी के पर्याय बन चुके स्पेन के इस शहर में लोगों ने एक क्रिकेट मैदान बनाने के लिए मतदान किया है जिससे वहां के अधिकारी भी स्तब्ध हो गये हैं।

‘द गार्जियन’ अखबार की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि बार्सिलोना ने अपने नागरिकों को साइकिलिंग लेन से लेकर खेल के मैदानों तक की नई सुविधाओं के लिए 30 मिलियन यूरो ( लगभग 2.66 अरब रूपये) के पैकेज पर वोट करने का मौका दिया और 822 परियोजनाओं में से क्रिकेट मैदान को सबसे अधिक वोट मिले।

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘यह सब युवा महिलाओं के एक समूह के नेतृत्व में चले अभियान के कारण संभव हुआ।’’

रिपोर्ट में 20 वर्षीय हिफ्सा बट के हवाले से कहा गया है कि शहर में इस खेल की शुरुआत 2018 में हुई थी जब उनके जिम प्रशिक्षक ने उन्हें स्कूल के समय के बाद क्रिकेट क्लब शुरू करने की जानकारी दी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘ जब क्लब की घोषणा की गई तो पाकिस्तानी और भारतीय परिवारों की महिलाओं को क्रिकेट के नियमों के बारे में बहुत कम जानकारी थी , स्पेन के जिम प्रशिक्षक को भी इसके बारे में पता नहीं था। उनका पहला प्रशिक्षक एक लैटिन अमेरिकी रग्बी खिलाड़ी था और उसने कभी क्रिकेट भी नहीं खेला था’’

बट ने कहा, ‘‘ इसके बाद हमने खुद ही खेलना शुरू कर दिया।’’

इन लड़कियों ने अपने प्रस्ताव में लिखा था, ‘‘ इस परियोजना में सिर्फ लड़कियां शामिल हैं। प्रशिक्षण से महिला के रूप में हम सशक्त महसूस करते है। हम अपने कौशल को स्वतंत्र रूप से विकसित कर सकते हैं। इसके साथ ही हमारा लक्ष्य महिला क्रिकेट एकादश टीम स्थापित करना है।’’

बार्सिलोना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट क्लब के ऑस्ट्रेलियाई अध्यक्ष डेमियन मैकमुलेन ने कहा, ‘‘बार्सिलोना में 16,000 वर्ग मीटर समतल जमीन (क्रिकेट के लिए) को ढूंढना असंभव सा है।’’

बट ने कहा कि वे खुद को इस खेल का दूत मानते है।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम पाकिस्तान और भारत जैसे देशों से है जो क्रिकेट के बारे में जानते हैं, लेकिन हम स्पेन में भी खेल के बारे में जागरूकता फैलाना चाहते हैं।’’

भाषा आनन्द सुधीर

सुधीर