भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर कहे जाने वाले क्रिकेटर हार्दिक पांड्या के पिता हिमांशु पांड्या का शनिवार की सुबह निधन हो गया है. सुबह-सुबह उन्हें दिल का दौरा पड़ा जिसके बाद उन्हें वडोदरा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पिता के निधन की खबर सुनते ही क्रुणाल पांड्या बडौदा की टीम को छोड़ घर को रवाना हो गए. बडौदा में क्रुणाल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का नेतृत्व कर रहे थे. इसके बाद अब वो टूर्नामेंट नहीं खेल पाएंगे. हार्दिक के पिता पर कई बड़े सितारों ने शोक जताया है. मुंबई इंडियन्स टीम ने भी ट्वीट करके शोक व्यक्त किया है.

मुंबई इंडियन्स ने लिखा, 'हार्दिक और क्रुणाल को बहुत कम उम्र में क्रिकेट खेलने देने के हमारे इरादों पर कई लोगों ने सवाल उठाए और उनकी आलोचना की. मगर हम अपनी योजनाओं को बदलने को तैयारन हीं थे और यह देखना बहुत अच्छा है कि जो उन्होंने सोचा वो हासिल किया. हिमांशु पांड्या को रेस्ट इन पीस.'

बता दें, साल 2017 में हार्दिक पांड्या जब श्रीलंका के खिलाफ शतक लगा था तो उन्होंने अपने पिता को कार गिफ्ट किया था. हार्दिक ने एक बार ट्वीट करके कहा था कि उनके पिता को जीवन की हर खुशियां मिलनी चाहिए. इसी से पता चलता है कि हार्दिक अपने पिता को कितना चाहते थे.