वलसाड, 23 मई (भाषा) गुजरात के वलसाड जिले के तट पर रविवार को दो और शव मिले हैं तथा ऐसी आशंका जताई जा रही है कि चक्रवात ‘ताउते’ के दौरान अरब सागर में बजरा पी305 और एक टगबोट डूबने के कारण इन लोगों की मौत हुई।

वलसाड के पुलिस अधीक्षक राजदीपसिंह झाला ने बताया कि दक्षिण गुजरात में यहां दो स्थानों से शनिवार शाम से अब तक छह शव बरामद हो चुके हैं।

इससे पहले शनिवार को चार शव मिले थे। तीन शव तीथल समुद्र तट पर मिले थे और एक शव दक्षिण डूंगरी गांव में समुद्र तट पर मिला था।

अधिकारी ने बताया कि तीथल समुद्र तट पर रविवार सुबह दो और शव मिले। पुलिस ने इस शवों के पहचान पत्र और कुछ अन्य दस्तावेज बरामद कर लिए हैं और जांच जारी है।

झाला ने कहा कि दोनों शवों पर वर्दी और लाइफ जैकेट देखकर ऐसा लगता है कि ये लोग चक्रवात ताउते के दौरान मुंबई तट के पास डूबने वाले बजरे या टगबोट पर सवार थे।

उन्होंने कहा कि शनिवार को जिन चार लोगों के शव मिले थे, उनमें से एक की पहचान टगबोट ‘वरप्रदा’ के कैप्टन के रूप में हुई है।

झाला ने कहा, ‘‘हम अन्य शवों की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं।’’

बजरा पी 305, पर सरकारी तेल और गैस कंपनी ओएनजीसी के एक अपतटीय तेल ड्रिलिंग प्लेटफॉर्म के रख-रखाव के काम में लगे कर्मी सवार थे। उक्त बजरा तेज गति वाली हवाओं और ऊंची समुद्री लहरों के कारण मुंबई तट के पास सोमवार शाम को डूब गया था।

नौसेना और तटरक्षक बल के कर्मी बजरे के नौ लापता कर्मियों के अलावा वरप्रदा से लापता 11 लोगों की भी तलाश कर रहे हैं। वरप्रदा पर सवार 13 लोगों में से 2 को बचा लिया गया है।

भाषा

सिम्मी मानसी

मानसी