किसान आंदोलन के दौरान 26 जनवरी को किसान ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा को लेकर पंजाबी सिंगर और एक्टर दीप सिद्धू ने जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली कोर्ट में सफाई दी है. दीप सिद्धू की ओर से उनकी वकील ने कोर्ट में कहा है कि उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं है, जिससे पता चल सके कि उसने हिंसा के लिए लोगों को इकट्ठा किया है.

सिद्धू की ओर वकील ने कहा कि, मैंने बस एक वीडियो पोस्ट किया था जो मेरी गलती है. लेकिन सभी गलतियां क्राइम नहीं हो सकती.

यह भी पढ़ेंः सीएम योगी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद भी रैली कर रहे हैं- प्रियंका

यह भी पढ़ेंः देश में कोरोना संक्रमण का विस्फोट, 24 घंटे में सवा लाख नए मामले, टूटे सभी रिकॉर्ड

उसने कहा, दीप सिद्घू ने लाल किले में जाने के लिए कोई कॉल नहीं किया. किसान ट्रैक्टर परेड के लिए किसान नेताओं द्वारा आह्वान किया गया था और वह किसान यूनियन के सदस्य नहीं हैं.

उसने यह भी कहा कि हिंसा भड़कने से पहले ही वह आंदोलन से अलग हो गया था.

यह भी पढ़ेंः Indian Railways: Lucknow New Delhi Tejas Express अगले आदेश तक कैंसल रहेगी

दीप सिद्धू की जमानत याचिका पर अब सोमवार (12 अप्रैल) को सुनवाई होगी.

आपको बता दें, 26 जनवरी को लाल किले के प्राचीर पर प्रतीकात्मक झंडा फहराया गया था. वहीं, काफी हिंसा और तोड़फोड़ की गई थी. इस मामले में कई लोगों को हिरासत में लिया गया था.

यह भी पढ़ेंः कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद न्यूजीलैंड में भारतीय यात्रियों के प्रवेश पर रोक