नयी दिल्ली, 19 अप्रैल (भाषा) दिल्ली के व्यापारिक संगठनों ने राजधानी में छह दिन की लॉकडाउन की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर पर नियंत्रण के लिए यह जरूरी था।

व्यापारियों के संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली सरकार ने उपराज्यपाल के साथ विचार-विमर्श के बाद यह कदम उठाया है, जो स्वागतयोग्य है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए यह जरूरी था।’’

खंडलेवाल ने उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री से दिल्ली को पांच क्षेत्रों.... मध्य, पूर्व, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण में बांटने और नोडल अधिकारियों की नियुक्ति का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि कैट से जुड़े लोग नोडल अधिकारियों के साथ मिलकर आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में मदद करेंगे।

चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) के चेयरमैन ब्रिजेश गोयल ने कहा कि सरकार ने काफी संतुलित निर्णय लिया है।

गोयल ने बयान में कहा, ‘‘पिछले कुछ दिन के दौरान हमने दिल्ली के सभी व्यापारियों के साथ विचार-विमर्श किया। 90 प्रतिशत व्यापारी पांच से सात दिन के लॉकडाउन के पक्ष में थे।’’

उन्होंने कहा कि सीमित अवधि के लॉकडाउन का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि प्रवासी मजदूर पिछली बार की तरह अपने गांवों को नहीं लौटेंगे।

पिछले कुछ दिन से दिल्ली में रोजाना संक्रमण के 25,000 मामले आ रहे हैं।

भाषा अजय

अजय महाबीर

महाबीर