नयी दिल्ली, 19 अप्रैल (भाषा) दिल्ली सरकार ने यहां कोरोना वायरस के अत्यंत तेजी से बढ़ते मामलों के बीच ऑक्सीजन एवं रेमडेसिविर दवा की कमी होने के मद्देनजर उनकी खरीदारी एवं आपूर्ति की प्रत्यक्ष निगरानी के लिए अधिकारियों की दो टीम सोमवार को तैनात कीं।

राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 25,462 नए मामले सामने आए और लोगों के संक्रमित पाए जाने की दर बढ़कर 29.74 प्रतिशत हो गई। यानी शहर में जिन नमूनों की जांच की जा रही है, उनमें से हर तीसरा नमूना संक्रमित पाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री कार्यालय ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली में कोरोना वायरस के मरीजों का पर्याप्त उपचार सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार रेमडेसिविर टीकों और चिकित्सकीय ऑक्सीजन की पूरी खरीदारी एवं वितरण प्रक्रिया की प्रत्यक्ष निगरानी करेगी।’’

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक आधिकारिक आदेश के अनुसार, नौ अधिकारियों की एक टीम ऑक्सीजन भरने के संयंत्रों पर तैनात रहेगी और चिकित्सकीय ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ताओं की संचालन प्रक्रिया पर नजर रखेगी।

इस आदेश में कहा गया है, ‘‘अधिकारी एजेंसी द्वारा खरीदी जाने वाली चिकित्सकीय ऑक्सीजन की पूरी खरीदारी प्रक्रिया पर नजर रखेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि खरीदी गई ऑक्सीजन की मात्रा को समर्पित रजिस्टर में उचित रूप से दर्ज किया जाए।’’

आदेश में कहा गया है, ‘‘टीम दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों एवं नर्सिंग होम में चिकित्सकीय ऑक्सीजन के वितरण पर नजर रखेगी। हर अधिकारी विशेष कार्य अधिकारी को रोजाना एक रिपोर्ट भेजेगा।’’

दिल्ली सरकार ने एक अन्य आदेश जारी करके राष्ट्रीय राजधानी में रेमडेसिविर टीकों की दैनिक आधार पर आपूर्ति पर नजर रखने के लिए 28 निरीक्षकों को भी तैनात किया है।

आदेश में कहा गया है, ‘‘दवा निरीक्षक ऑर्डर मिलने और कंपनी से वितरक या डीलर को उनकी आपूर्ति होने तक रेमडेसिविर टीके की पूरी खरीदारी प्रक्रिया पर नजर रखेंगे।’’

इसमें कहा गया है कि टीम यह सुनिश्चित करेगी कि वितरकों एवं डीलरों को मिली दवा रिकॉर्ड में उचित तरीके से दर्ज हो।