नयी दिल्ली, 25 मई (भाषा) दिल्ली में इस साल मई के महीने में 144.8 मिली मीटर बारिश हुई है, जो बीते 13 साल में सर्वाधिक है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने यह जानकारी दी।

विभाग के स्थानीय अनुमान केन्द्र ने मंगलवार को कहा, ''अगले चार-पांच दिन में बारिश होने का अनुमान नहीं है। लिहाजा, इस साल 2008 के बाद मई में सबसे अधिक बारिश हुई है।''

दिल्ली के मौसम संबंधी आंकड़े जारी करने वाली सफदरजंग वेधशाला के मुताबिक पिछले साल मई में 21.1 मिली मीटर, 2019 में 26.9 मिली मीटर और 2018 में 24.2 मिली मीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी।

मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार साल 2017 में 40.5 मि.मी, 2016 में 24.3 मि.मी, 2015 में 3.1 मि.मी और 2014 में 100.2 मि.मी बारिश दर्ज की गई।

वेधशाला ने कहा कि इस साल मई में 2014 के बाद सबसे अधिक नौ दिन बारिश हुई। 2014 में दस दिन बारिश हुई थी। पिछले साल सात दिन और 2018 में पांच दिन बारिश हुई।

दिल्ली में पिछले सप्ताह बुधवार सुबह 8:30 बजे से बृहस्पितवार सुबह 8:30 बजे के बीच ताउते चक्रवात और पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते 119.3 मि.मी बारिश हुई, जिसने मई महीने के पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये।

मौसम विभाग के अनुसार पिछला रिकॉर्ड 24 मई 1976 को बना था, जब 60 मि.मी बारिश हुई थी।

विभाग के अनुसार पहले पश्चिमी विक्षोभ और फिर ताउते चक्रवात के चलते ''रिकॉर्ड'' बारिश दर्ज की गई।

इस साल 31 मई तक अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहने का अनुमान है , लिहाज 2014 के बाद पहली बार ऐसा होने की उम्मीद है कि सफदरजंग वेधशाला मानसून-पूर्व 'लू' रिकॉर्ड न कर पाए। पालम वेधशाला में भी अभी तक 'लू' रिकॉर्ड नही की गई है।

मैदानी इलाकों में 'लू' तब घोषित की जाती है जब अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक और सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा होता है।

''गंभीर'' लू की घोषणा तब की जाती है जब अधिकतम तापमान सामान्य से 6.5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा होता है।

दिल्ली में इस साल मई में औसत अधिकतम तापमान 37.02 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जो 30 साल के औसत तापमान 39.5 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले कम है।

मंगलवार तक औसत न्यूनतम तापमान 22.93 डिग्री सेल्सियस रहा। मई में लंबे समय से औसत न्यूनतम तापमान 25.8 डिग्री सेल्सियस रहा है।

भाषा। जोहेब माधव

माधव