देश का विमानन नियामक डीजीसीए उन हवाईअड्डों का विशेष ऑडिट करेगा जहां भारी बारिश होती है. वरिष्ठ अधिकारियों ने कोझिकोड हवाईअड्डे पर विमान हादसे के चार दिन बाद मंगलवार को यह बात कही.

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘मुंबई और चेन्नई जैसे हवाईअड्डों पर विशेष ऑडिट किया जाएगा जो सालभर में भारी बारिश से प्रभावित रहते हैं. ’’

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) देश में कोझिकोड समेत 100 से ज्यादा हवाईअड्डों का प्रबंधन देखता है. हालांकि दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और हैदराबाद जैसे बड़े हवाईअड्डों का प्रबंधन निजी कंपनियां देखती हैं.

दुबई से चालक दल के छह सदस्यों समेत 190 यात्रियों को लेकर शुक्रवार रात कोझिकोड हवाईअड्डे पर उतरा एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान भारी बारिश के कारण हवाई पट्टी से फिसलकर 35 फुट नीचे खाई में गिर गया और उसके दो टुकड़े हो गए थे. हादसे में दोनों पायलट समेत 18 लोगों की मौत हो गयी.

एयरलाइन ने मंगलवार को कहा कि कोझिकोड विमान हादसे में घायल 74 यात्रियों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गयी है.