अमेरिकी सेना ने डेडलाइन का पालन करते हुए 31 अगस्त को पूरी तरीके से अफगानिस्तान छोड़ दिया. इसके साथ ही अमेरिकी सेना कई हथियार और साजो सामान अफगानिस्तान के अपने अलग-अलग ठिकानों पर ही छोड़ गई, हालांकि उसने कई हथियार और विमान निष्क्रिय भी कर दिए. अमेरिकी सेना के जाने के साथ ही अब अफगानिस्तान पर पूरी तरह से तालिबान का कब्जा हो गया है. अमेरिकी सेना के रवाना होने के बाद तालिबानियों ने इसका जश्न भी मनाया.

इस जश्न के बीच एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ. इस वीडियो में एक शख्स को हैलीकॉप्टर से लटका हुआ देखा गया. वीडियों को लेकर यह दावा किया गया था कि इसमें जो शख्स हैलीकॉप्टर से लटका हुआ है उसे अमेरिका की मदद करने की सजा दी जा रही है और ये सजा कोई और नहीं बल्कि तालिबानी सरकार दे रही है. भारत समेत दुनिया के कई मीडिया संस्थानों और नेताओं ने इसी को सच माना था और अपने-अपने प्लेटफार्म पर इसे साझा किया था. 

यह भी पढ़ें: कौन हैं ISIS खोरासान? जिसने काबुल एयरपोर्ट पर हमले की जिम्मेदारी ली

अफगान पत्रकार ने बताई वीडियो की सच्चाई 

इस वीडियो के काफी वायरल होने के बाद इसकी सच्चाई सामने आई. एक अफगानी पत्रकार ने इस शख्स को सजा देने के दावा करने वाले लोगों का मुंह बंद कर दिया. दरअसल, जिस हैलीकॉप्टर पर वो शख्स लटका हुआ है. वह अमेरिका का ही एक 'ब्लैकहॉक' हैलीकॉपर है. इस हैलीकॉप्टर पर जो शख्स लटका है. वह तालिबानी है और वो ऊंचाई पर तालिबानी झंडा लगाने का प्रयास कर रहा है. जिस वजह से वह हैलीकॉप्टर पर लटका है. इसमें सजा देने की कोई बात निकलकर सामने नहीं आई है. ये वीडियो काबुल का नहीं बल्कि कंधार के गवर्नर ऑफिस का है.

अफगानी पत्रकार ने बताया कि वह हैलीकॉप्टर उड़ा रहे पायलट को जानता है. उसने बताया कि पायलट ने अमेरिका और UAE में ट्रेनिंग ली है. पत्रकार ने दावा किया कि उसको उस पायलट ने कंफर्म किया कि उसी ने ब्लैकहॉक हैलीकॉप्टर उड़ाया. पायलट के हवाले से ही पत्रकार ने बताया कि हैलीकॉप्टर से लटका शख्स तालिबान का लड़ाका है और तालिबानी झंडा लगाने का प्रयास कर रहा है, लेकिन ये तरकीब काम नहीं आई. 

यह भी पढ़ें: जानें, तालिबान की कमान किसके हाथ में है? वो नेता जो अब अफगानिस्तान को चलाएंगे

कई अमेरिका पत्रकार और नेताओं ने अफवाह के दम पर इस वीडियो को शेयर करके ये दावा किया था कि तालिबानी इस शख्स पर जुल्म ढा रहे हैं. लेकिन जब अफगानी पत्रकार ने इस वीडियो की सच्चाई को सबके सामने लाया तो इस वीडियो को डिलीट करने का सिलसिला भी शुरू हो गया. इसके साथ ही अमेरिकी पत्रकार और नेताओं ने भी ये वीडियो अपने अकाउंट से डिलीट कर दिया.

बता दें अब अमेरिका के सभी सैनिक अफगानिस्तान को छोड़ चुके हैं. अब अफगानिस्तान पूरी तरह से तालिबान के कब्जे में आ गया है. 

यह भी पढ़ें: तालिबान के समर्थन में आए क्रिकेटर शाहिद अफरीदी, दिया ये हैरान करने वाला बयान