हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने सोमवार को कहा कि 'देश विरोध का बीज जहां कहीं भी हो उसका समूल नाश कर देना चाहिए.' विज ने यह टिप्पणी पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी के दो दिन बाद की है. दिशा रवि को सोशल मीडिया पर किसानों के प्रदर्शन से संबंधित 'टूलकिट' कथित रूप से साझा करने को लेकर गिरफ्तार किया गया है.

दिल्ली पुलिस ने दावा किया है कि 21 वर्षीय कार्यकर्ता 'टूलकिट गूगल डॉक' की संपादक हैं और दस्तावेज बनाने और उसका प्रसार करने वाली 'मुख्य साजिशकर्ता' हैं. उन्हें साइबर प्रकोष्ठ ने शनिवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने कहा- 26 जनवरी से पहले दिशा रवि, निकिता, शांतनु और अन्‍य के बीच हुई थी जूम कॉल

बीजेपी नेता विज ने ट्वीट किया, "देश विरोध का बीज जिसके भी दिमाग में हो उसका समूल नाश कर देना चाहिए फिर चाहे वह दिशा रवि हो यां कोई और." इस ट्वीट को लेकर एक शिकायत के बाद ट्विटर से आई प्रतिक्रिया को मंत्री ने साझा किया.

ट्विटर से आई प्रतिक्रिया में कहा गया है कि उन्हें उक्त ट्वीट को लेकर मंत्री के अकांउट की शिकायत मिली है. ट्टिवर ने कहा, “ हमने इस सामग्री की जांच की और पाया कि यह ट्विटर नियम या जर्मन कानून के तहत हटाने योग्य नहीं है. इसलिए हमने कोई कार्रवाई नहीं की. ”

पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए एक 'टूल किट ' साझा की थी.

इस 'टूल किट ' में विभिन्न कदमों के बारे में जानकारी दी गई थी जिनमें ट्विटर पर विरोध करना, भारतीय दूतावासों के बाहर प्रदर्शन करना शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: वैभव रेखी के साथ शादी के बंधन में बंधी एक्ट्रेस दीया मिर्जा, देखें पहली तस्वीर