जम्मू, 23 मई (भाषा) कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने जिले के उपायुक्तों को उपलब्ध सभी कर्मचारियों की ड्यूटी कोविड-19 संबंधी कार्यों जैसे टीकाकरण, जांच और निगरानी के कार्यों में लगाने के लिए अधिकृत किया है। यह जानकारी रविवार को एक आधिकारिक आदेश में दी गई।

आदेश में कहा गया कि ‘आशा’ और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को केंद्र शासित प्रदेश में कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए प्रशिक्षित एवं सशक्त किया जाएगा जबकि स्वास्थ्य विभाग सुनिश्चित करेगा कि सभी जिलों में टेलीमेडिसीन की व्यवस्था की जाए ताकि मरीज फोन पर डॉक्टरों से परामर्श कर सकें।

जानकारी के मुताबिक यह फैसला उप राज्यपाल मनोज सिन्हा की प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों सहित प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ शनिवार को यहां हुई बैठक में लिया गया।

मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम ने नए दिशानिर्देश के साथ जारी आदेश में कहा, ‘‘ उपायुक्त सभी उपलब्ध कर्मचारियों का इस्तेमाल कोविड-19 संबंधी कार्यों जैसे टीकाकरण, जांच, निगरानी और सूचना, शिक्षा एवं संवाद गतिविधियों के लिए कर सकते हैं। इनमें में वे कर्मचारी भी शामिल होंगे जिनके संस्थान बंद हैं।’’

गौरतलब है कि प्रशासन पहले ही राज्य में जारी कोरोना कर्फ्यू की मियाद को 31 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा चुका है।