कोरोना महामारी के खिलाफ कोविड वैक्सीन को ही कारगर हथियार माना जा रहा है. कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद कई तरह के साइड इफेक्ट सामने आते है जैसे कुछ लोगों को हल्का बुखार होता है, सिरदर्द होता है और थकान महसूस होती है. अगर स्वास्थ्य विशेषज्ञों की माने तो कि यह सब साइट इफेक्ट बेहद आम है. इससे पता चलता है कि आपका इम्यूनिटी सिस्टम अपना काम कर रहा है और कोरोना वायरस से लड़ने के लिए खुद को तैयार कर रहा है. 

यह भी पढ़ेंः अब प्रेग्नेंट महिलाओं को भी लगेगी कोरोना वैक्सीन, हेल्थ मिनिस्ट्री ने दी मंजूरी

साइड इफेक्ट ना होने पर परेशानी की कोई बात नहीं 

अब ऐसे भी कई लोग है जिन्हें वैक्सीन लगवाने के बाद कोई साइड इफेक्ट नहीं होते और वे यह सोचते हैं कि शायद वैक्सीन अपना काम नहीं कर रही या फिर उनका इम्यून सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहा. लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है. हमें साइड इफेक्ट पर इतना ध्यान देने की जरूरत ही नहीं है. बहुत से लोगों को कोई साइड इफेक्ट का अनुभव नहीं होगा और इसमें कोई डरने की बात नहीं है.

हेल्थलाइन की खबरों के मुताबिक, लोयोला यूनिवर्सिटी मैरीलैंड के जीव विज्ञान विभाग में एक इम्यूनोलॉजिस्ट और जीव विज्ञान के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ क्रिस थॉम्पसन ने कहा, "अगर आपको वैक्सीन के बाद साइड इफेक्ट महसूस नहीं करते हैं, तो इसका मतलब है कि आपका इम्यूनिटी सिस्टम पहले से ही काम कर रहा है”. 

यह भी पढ़ेंः अफवाहों पर न जाएं, कोरोना टीका लगवाने के बाद इन बातों का रखें ध्यान

आधे से ज्यादा लोगों को साइड इफेक्ट नहीं होते  

सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्था के अध्यक्ष ब्रायन कास्त्रुची ने कहा कि फाइबर और मॉडर्न के क्लिनिकल टेस्ट के आंकड़ों के अनुसार वैक्सीन लगवाने वाले आधे से अधिक लोगों को कोई साइड इफेक्ट नहीं था, लेकिन वे अभी भी वैक्सीन की वजह से 90 प्रतिशत सुरक्षित थे. उन्होंने आगे कहा, "कुछ लोगों को साइड इफेक्ट होंगे, लेकिन बहुत से लोगों को नहीं भी होंगे. यह तय है कि अगर आपने वैक्सीन लगवाई है तो आप सुरक्षित हैं."

अभी तक भारत में कुल 39.3 करोड़ लोगों को वैक्सीन लग चुकी है, भारत में कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए वैक्सीनेशन की गति को तेज करने का प्रयास किया जा रहा है और सरकार, ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित कर रही है.   

यह भी पढ़ेंः 125 साल के बुजुर्ग अकेले पहुंचे वैक्सीन सेंटर, लगवाया कोरोना का टीका