देशभर में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है और इस दौरान राज्य सरकारों ने अपने-अपने हिसाब से लॉकडाउन और कोरोना कर्फ्यू लगाया है. हालांकि पिछले दो दिनों से कोरोना के नए मामलों में कमी आई है लेकिन चिंता की स्थिति अभी भी बनी हुई है. टीवी चैनलों पर भी मौत के आंकड़े दिखाए जाते हैं जिससे मन अस्थिर हो जाता है. बहुत से कोरोना मरीज होम क्वारंटीन हो गए हैं तो कई लॉकडाउन के कारण घर पर हैं. घर में रह-रहकर हर किसी का मन विचलित सा हो गया है ऐसे में निगेटिव थॉट ज्यादा आते हैं. लेकिन अगर आपके साथ भी ऐसा है तो खुद को इन बातों से पॉजिटिव रखिए.

यह भी पढ़ें- Cyclone Taukte: गुजरात में चक्रवाती तूफान तौकते ने दी दस्तक, हो सकता है भारी नुकसान

यह भी पढ़ें- कोरोना इलाज में अब नहीं होगी प्लाज़्मा थेरेपी, ICMR ने जारी किए निर्देश

ये भी पढ़ेंः कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद ये लक्षण हो सकते हैं खतरनाक, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

1. अपने अराध्य ईश्वर को सुबह शाम याद करें और उनसे अपने मन को स्थिर रखने की शक्ति मांगे. 

2. सुबह-सुबह सॉफ्ट म्यूजिक के साथ मेडिटेशन करें, जिस दौरान हर चिंता को त्यागकर बस भविष्य की प्लानिंग करें.

3. अकेले रहने की कोशिश कम करें, सोशल मीडिया से दूर अपने परिवार के साथ समय बिताएं. कई एक्सपर्ट्स मानते हैं कि डिप्रेशन में जा रहे व्यक्ति को उसका परिवार संभाल सकता है.

4. कोरोना के आंकड़े पढ़ें लेकिन रिकवरी और डिस्चार्ज हुए लोगों के बारे में पढ़ें. कोरोना से जुड़ी पॉजिटिव खबरें पढ़ने से आपको सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी.

5. सुबह-शाम एक्सरसाइज और योगा करें, जिससे आपकी स्थिरता बनी रहे. हेल्दी खाना खाइए और वर्कआउट जरूर करें.

यह भी पढ़ें- केदारनाथ के बाद अब खुल गए बदरीनाथ के कपाट, भक्तों को नहीं जाने की सलाह

ये भी पढ़ेंः कोविड-19 रोधी दवा 2-DG हुई लॉन्च, जानिए इसके बारे में

ये भी पढ़ेंः दिल्ली में कोरोना के ताजा मामले 5 हजार से कम, सिंगल डिजिट में पहुंचा पॉजिटिविटी रेट