दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने टूलकिट मामले में पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि को बेंगलुरू से गिरफ्तार कर लिया गया है. दिशा रवि पर आरोप है कि उन्होंने किसानों से जुड़े टूलकिट को एडिट करते हुए उसमें कुछ चीजें आगे बढ़ाई है. दिशा को 5 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया है और इसके बाद से ही लगातार विपक्ष नेताओं का ट्वीट आना शुरू हो गया है और सभी ने सरकार पर आरोप लगाते हुए बहुत सी बातें कही हैं.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा, 'डरते हैं बंदूकों वाले एक निहत्थी लड़की से, फैले हैं हिम्मत के उजाले एक निहत्थी लड़की से.'

कांग्रेस नेता शशि थरुर ने लिखा, 'दिशा रवि की गिरफ्तारी भारत की स्वतंत्र अभिव्यक्ति और राजनीतिक असहमति के मामलों में नवीनतम वृद्धि है. ऐसा इसलिए क्योंकि यह किसानों के बड़े विरोध प्रदर्शन को देखती है. डेली टेलिग्राफ कहते हैं कि 'क्या भारत सरकार को दुनिया में अपनी इज्जत की परवाह नहीं'?'

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने लिखा, 'यदि माउंट कार्मेल कॉलेज की 22 वर्षीया छात्रा और जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि देश के लिए खतरा बन गई है, तो भारत बहुत ही कमजोर बुनियाद पर खड़ा है. चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की तुलना में किसानों के विरोध का समर्थन करने के लिए लाया गया एक टूक किट अधिक खतरनाक है.' चिदंबरम आगे लिखते हैं, 'भारत बेतुका रंगमंच बन रहा है और यह दुखद है कि दिल्ली पुलिस उत्पीड़कों का औजार बन गई है. मैं दिशा रवि की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करता हूं और सभी छात्रों और युवाओं से आग्रह करता हूं कि वे निरंकुश शासन के खिलाफ आवाज उठाएं.'

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लिखा, 'बोल कि लब आज़ाद हैं तेरे, बोल कि सच ज़िंदा है अब तक, वो डरे हैं, देश नहीं. भारत चुप नहीं रहना चाहता'

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखा, '21 साल की दिशानी रवि की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर एक अभूतपूर्व हमला है. हमारे किासनों का समर्थन करना कोई अपराध नहीं है.'

यह भी पढ़ें- सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता ने शेयर की भाई की तस्वीर, पोस्ट पढ़कर रो पड़ेंगे आप