आनंदवन की महारोगी सेवा समिति की सीईओ डॉ. शीतल आमटे की आत्महत्या ने हलचल मचा दी है. उन्हें वरोरा उप-जिला अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

महाराष्ट्र टाइम्स के अनुसार, डॉ. शीतल आमटे- करजगी पिछले कुछ दिनों से मानसिक तनाव से जूझ रही थीं, इसिलिए उन्होंने यह चरम कदम उठाया ऐसी चर्चा है. कुछ दिन पहले डॉ. शीतल ने फेसबुक लाइव के माध्यम से आनंदवन, वहां के ट्रस्टियों और कार्यकर्ताओं के बारे में गंभीर आरोप लगाए थे. हालांकि, इसे कुछ ही घंटों बाद हटा दिया गया था. लेकिन इसने विभिन्न चर्चाओं को जन्म दिया. इसके बाद, आमटे परिवार ने एक बयान जारी किया. जिसमें शीतल आमटे द्वारा लगाए गए सभी आरोपों का खंडन किया गया था.

शीतल आमटे के बारे में ...

डॉ. शीतल आमटे स्वर्गीय बाबा आमटे की पोती थीं. वह विकास और भारती आमटे की बेटी थीं. उन्होंने आमटे परिवार की सामाजिक सेवा की विरासत का भी सक्रिय रूप से देखभाल किया. उन्होंने 2003 में नागपुर से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद, उन्होंने आनंदवन में रहने और काम करने का फैसला किया था.

डॉ. शीतल आमटे करजगी ने भी अपनी मौत से कुछ घंटे पहले ट्वीट किया था. उन्होंने कैप्शन में वॉर और पीस लिखकर एक तस्वीर पोस्ट की है.