गोरखपुर (उत्तर प्रदेश), 25 मई (भाषा) कंबोडिया के नोम पेन्ह में लॉकडाउन के कारण फंसे 150 भारतीय श्रमिकों की सुरक्षित वापसी की एक सांसद की अपील के बाद कंबोडिया स्थित भारतीय दूतावास ने कहा है कि वह उन मजदूरों को वापस भेजने के लिए विमान का प्रबंध करने की कोशिश कर रहा है।

कंबोडिया स्थित भारतीय दूतावास ने मंगलवार को एक ट्वीट में रवि किशन का जिक्र करते हुए कहा, 'दूतावास कंबोडिया में फंसे सभी भारतीयों को हरसंभव मदद उपलब्ध करा रहा है। हम एक प्रत्यावर्तन उड़ान का प्रबंध करने की कोशिश भी कर रहे हैं।'

सांसद रवि किशन ने दूतावास को धन्यवाद देते हुए कहा कि वह विदेश मंत्री एस. जयशंकर और कंबोडियाई दूतावास का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने उनके पत्र का संज्ञान लिया और उस पर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि कंबोडिया में 150 से ज्यादा भारतीय श्रमिक लागू लॉकडाउन के कारण फंस गए हैं और उनके सामने रोजी-रोटी का गंभीर संकट पैदा हो गया है। ये मजदूर गोरखपुर तथा उसके आसपास के इलाकों के रहने वाले हैं।

शनिवार को कुछ श्रमिकों ने गोरखपुर से भाजपा सांसद रवि किशन से संपर्क किया और उन्हें अपनी व्यथा बताई जिसके बाद शनिवार को सांसद ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को एक पत्र लिखकर इन श्रमिकों के लिए मदद मांगी।

ये श्रमिक जुलाई 2019 में मजदूरी करने के लिए कंबोडिया गए थे और 2020 में कोविड-19 महामारी के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान भी उन्हें बड़ी दुश्वारियों का सामना करना पड़ा था। मगर लॉकडाउन खुलने के बाद वे दोबारा काम पर लौट गए थे लेकिन फरवरी 2021 से एक बार फिर कंबोडिया में लॉकडाउन लागू कर दिया गया जिसके बाद श्रमिकों के सामने रोजी-रोटी का संकट एक बार फिर पैदा हो गया है।

भाषा सं सलीम

रंजन नरेश

नरेश