हाल ही में बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का निधन हो गया. उनकी मौत के बाद परिवार पर दुखों का अंबार टूट पड़ा है. लेकिन परिवार ने उनकी विरासत को सम्मान देने और सिनेमा, विज्ञान तथा खेल के प्रति सुशांत के जुनून का जश्न मनाने का फैसला किया है.

'आजाद ख्याल था, बातूनी और बेहद प्रतिभाशाली था सुशांत'

सुशांत के परिवार ने शनिवार को एक बेहद भावनात्मक बयान जारी किया और उन्हें एक ‘‘ आजाद ख्याल’’ इंसान बताया. बयान में कहा गया,‘‘ वह आजाद ख्याल था, बातूनी और बेहद प्रतिभाशाली था. उसमें हर एक चीज़ को ले कर उत्सुकता थी. उसके सपने किसी सीमा में बंधे नहीं थे और उसने किसी शेरदिल की तरह अपने सपनों को साकार करने की कोशिश की. उसकी मुस्कान बहुत सहज थी. वह परिवार का गौरव और प्रेरणा था.’’

'नहीं भर सकेगा कभी ये खालीपन'

सुशांत के परिवार ने कहा कि उसके असमय चले जाने से उनकी जिंदगियों में ऐसा खालीपन आ गया है जिसे कभी भरा नहीं जा सकता. बयान में कहा गया,‘‘ हमें अब भी विश्वास नहीं हो रहा कि हमें अब उसकी हंसी सुनने को नहीं मिलेगी, हम उसकी चमकदार आंखें अब कभी नहीं देख पाएंगे. उसके निधन ने परिवार में कभी न भर सकने वाला खालीपन पैदा किया है.’’

संशात सिंह राजपूत फाउंडेशन बनाया जाएगा

अपने प्रियजन के जाने के सदमें से उबर रहे परिवार ने उनके दुख में शामिल होने के लिए लोगों का आभार जताया और कहा कि सुशांत अपने प्रशंसकों को बेहद प्यार करते थे. परिवार ने सुशांत की याद में ‘‘संशात सिंह राजपूत फाउंडेशन’’ बनाने का निर्णय किया है जो सिनेमा, विज्ञान और खेल में दिलचस्पी रखने वाली युवा प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने का काम करेगा. पटना के राजीव नगर स्थित उनके मकान को एक स्मारक में तब्दील किया जाएगा जहां उनकी हजारों किताबों, टेलिस्कोप तथा अन्य सामानों को लोगों को देखने के लिए रखा जाएगा. परिवार सुशांत की याद में उनके सोशल मीडिया अकाउंट को भी चलाएगा.

बता दें ‘काई पो चे’, ‘एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी’ और ‘छिछोरे’ जैसी फिल्मों में अपनी दमदार अदाकारी के लिये जाने जाने वाले सुशांत (34) 14 जून को मुंबई के बांद्रा इलाके में स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे.