भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने एक बार फिर महत्वपूर्ण समय पर अपना विकेट गंवा दिया. इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर खेले जा तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में विराट कोहली अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद ओली रॉबिंसन की गेंद पर स्लिप में कैच आउट हो गए. विराट ने 125 गेंद में 55 रन बनाए. इस तरह से उनके शतक का इंतजार अब 51 पारी लंबा हो चुका है.

इससे पहले विराट कोहली तीसरे टेस्ट के पहले दिन जेम्स एंडरसन की गेंद पर विकेटकीपर के हाथों कैच आउट हुए थे. विराट ने 17 गेंदों का सामना किया और 7 रन बनाए थे. 

यह भी पढ़ें: विराट कोहली की जीत के लिए खेलेगा इंग्लैंड का ये तेज गेंदबाज, डील पक्की हो गई है

विराट कोहली ने पिछली 51 इंटरनेशनल पारियों में एक भी शतक नहीं जड़ा है. शतक के इस सूखे के दौरान विराट ने टेस्ट में 19 पारी, ODI में 15 पारी और टी20 क्रिकेट में 17 पारी खेली हैं. विराट को अपने शतक के लिए इससे पहले इतना लंबा इन्तजार कभी नहीं करना पड़ा था. 

इससे पहले कोहली ने लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में 42 और दूसरी पारी में 20 रन बनाए थे. विराट फॉर्म को लेकर बहुत जूझते नहीं दिख रहे. लेकिन किस्मत और बाहर जाती गेंदें उनके लिए काल बनी हुई हैं. 

यह भी पढ़ें: वसीम जाफर ने माइकल वॉन के ट्वीट पर नजर बट्टू लगा दिया, देखिए मजा आ जाएगा

शतक के लिए कबसे प्यासे हैं विराट कोहली 

विराट कोहली ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय शतक बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में पिंक बॉल टेस्ट में बनाया था. दिन था 22 नवंबर और साल था 2019. इसके बाद से विराट कोहली ने ODI में 15 पारियां खेली, टी20 में 17 पारियां और टेस्ट में 18 पारियां. लेकिन एक बार भी 100 रन के आंकड़े को छू नहीं पाए, जैसे वह कभी न ख़त्म होने वाला आसमान हो. 

हालांकि, इस दौरान उन्होंने ODI में सात, टी20 में छह और टेस्ट में 4 अर्धशतकीय पारियां खेलीं. यानी 51 पारियों में 17 बार पचास का आंकड़ा पार किया लेकिन शतक नहीं बना पाए. इसमें से पांच बार विराट ने 85 या उससे अधिक रन बनाए. फैंस आस लगाए बैठे हैं कि विराट जल्द ही शतकों के इस मायाजाल को तोड़कर इंग्लैंड के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज में शतक बनाएंगे. 

यह भी पढ़ें: ENG vs IND 3rd Test: चेतेश्वर पुजारा ने माइकल वॉन को बोलने लायक नहीं छोड़ा

शतक आया तो करेंगे रिकी पोंटिंग की बराबरी 

अगर विराट कोहली 71वां अंतर्राष्ट्रीय शतक लगाने में कामयाब रहते हैं तो वह ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज रिकी पोंटिंग की बराबरी कर लेंगे, जिनके नाम महान सचिन तेंदुलकर (100) के बाद सर्वाधिक 71 अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट शतक हैं. 

यह भी पढ़ें: 'सुशील कुमार अभी भी भारत के बेस्ट रेसलर', बजरंग पूनिया ने बताई ये बड़ी वजह