भारत और इंग्लैंड के बीच 5 मैच की टेस्ट सीरीज का चौथा टेस्ट 2 सितंबर यानी आज से लंदन के केनिंग्टन ओवल मैदान पर खेला जाना है. भारतीय समयानुसार यह मुकाबला दोपहर 3:30 बजे शुरू होगा. सीरीज का पहला मैच बारिश के चलते ड्रॉ रहा. इसके बाद लॉर्ड्स के मैदान पर टीम इंडिया ने शानदार जीत हासिल की, लेकिन ये खुशी ज्यादा देर तक नहीं टिकी और सीरीज के तीसरे यानी लीड्स टेस्ट में टीम इंडिया को करारी हार का सामना करना पड़ा. फिलहाल सीरीज 1-1 से बराबरी पर है. अब देखने वाली बात ये होगी कि आखिर कौन सी टीम ओवल में होने जा रहे चौथे टेस्ट मैच में जीत हासिल करके सीरीज में बढ़त बना लेगी.

यह भी पढ़ें: अब रोहित शर्मा हैं देश के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज, देखें ताजा ICC रैंकिंग

ओवल के मैदान का इतिहास टीम इंडिया के फैंस के लिए एक डरावने सपने जैसा है. भारतीय टीम ने इस मैदान पर पहला टेस्ट अगस्त 1936 में खेला था. तब से अब तक टीम इंडिया ने इस मैदान पर 13 टेस्ट मैच खेले हैं. और सिर्फ एक मैच में ही जीत दर्ज की है, जबकि पांच में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा है. वहीं, 7 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं.

पहली और आखिरी बार 1971 में मिली थी जीत 

टीम इंडिया ने पहली और आखिरी बार ओवल के मैदान पर अगस्त 1971 में जीत हासिल की थी. साल 1971 में 19 से 24 अगस्त तक चले उस टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम की कमान अजीत वाडेकर के हाथों में थी. भारत ने यह मुकाबला 4 विकेट से अपने नाम कर लिया था. उस मैच में इंग्लैंड ने पहली पारी में 355 रन बनाए थे. भारत की पहली पारी 284 रन पर ही सिमट गई थी. हालांकि, दूसरी पारी में भागवत चंद्रशेखर की शानदार गेंदबाजी के दम पर इंग्लैंड की टीम 101 रन ही बना पाई. इंग्लैंड की दूसरी पारी में भागवत चंद्रशेखर ने 18.1 ओवर में 38 रन देकर 6 विकेट लिए. इस तरह भारत को जीत के लिए 173 रन का आसान लक्ष्य मिला.

यह भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में कोहली-रोहित के पास 'विराट' रिकॉर्ड बनाने का मौका

जिसके बाद टीम इंडिया ने 6 विकेट पर 174 रन बना दिए और ओवल में पहली बार टेस्ट मैच जीतकर इतिहास रच दिया. जिसके बाद से भारत ने इस मैदान पर अब तक 8 टेस्ट खेले हैं. इनमें से टीम इंडिया को 3 में हार का सामना करना पड़ा और 5 मैच ड्रॉ रहे हैं. यही नहीं भारतीय टीम ने 2007 के बाद इस मैदान पर तीन टेस्ट मैच खेले और तीनों में भारत को हार ही हाथ लगी. उसने 18 अगस्त 2011 को एक पारी और 8 रन, 15 अगस्त 2014 को एक पारी और 244 रन और सात सितंबर 2018 को 118 रन से हार का सामना किया.

भारतीय कप्तान विराट कोहली के पास अब ओवल टेस्ट में जीत हासिल कर इतिहास रचने का मौका है. अगर टीम इंडिया को ओवल टेस्ट में जीत मिली तो वह यकीनन काफी खास होगी.

यह भी पढ़ें: ENG vs IND: चौथे टेस्ट में किस Playing-XI के साथ उतरेंगे विराट कोहली, देखें