लंदन, 19 अप्रैल (एपी) इंग्लैंड, स्पेन और इटली के 12 फुटबॉल क्लबों के ग्रुप ने यूरोपीय सॉकर से हटने का फैसला करते हुए सुपर लीग बनाने की घोषणा की।

इन क्लबों ने यूएफा द्वारा आयोजित चैम्पियंस लीग के मौजूदा ढांचे से हटने का फैसला किया जबकि उन्हें इसके लिये चेताया भी गया है कि उन्हें उनकी घरेलू प्रतियोगिताओं से बाहर किया जा सकता है और उन्हें इसके लिये कानूनी कार्रवाई का भी सामना करना पड़ सकता है।

दुनिया के सबसे बड़े खेल को इस कदम ने झकझोर दिया है जिसमें आर्सेनल, लिवरपूल और मैनचेस्टर यूनाईटेड क्लबों के अमेरिकी मालिकों का भी कुछ योगदान हो सकता है।

इन विद्रोही क्लबों ने यह कदम तब उठाया जब यूएफा (यूरोपीय फुटबॉल की संचालन संस्था) 2024 में चैम्पियंस लीग को बढ़ाने की योजना से मुकर गया।

इस सुपर लीग की योजना जनवरी में लीक हो गयी थी लेकिन अब इसकी घोषणा की गयी।

रियाल मैड्रिड के अध्यक्ष फ्लोरेंटिनो पेरेज सुपर लीग के संस्थापक चेयरमैन होंगे। सुपर लीग के अनुसार उसकी योजना इसे जल्द जल्दी इसे शुरू करने की है जो 20 टीमों की प्रतियोगिता होगी और इसी तरह हफ्ते के बीच में खेली जायेगी जैसे मौजूदा चैम्पियंस लीग और यूरोपा लीगें खेली जाती हैं।