तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का टिकरी बॉर्डर और सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन जारी है. इसी बीच यूपी-बॉर्डर किसानों का जमावड़ा लगा है और वे सभी अपनी जिद पर अड़े हैं. उनका कहना है कि उन्हें जंतर-मंतर पर क्यों नहीं जाने दिया जा रहा, जबकि वहां सारी बैठकें होती हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फैसला आने तक आंदोलन जारी रहेगा.

ANI के मुताबिक, नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर डटे हुए हैं. एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "जब सारी बैठक हमेशा जंतर-मंतर पर होती हैं तो किसान को जंतर-मंतर पर क्यों नहीं जाने दे रहे? जब तक कोई फैसला नहीं निकलेगा हम यहीं रहेंगे."

किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस एक्शन में आ गई है. दिल्ली में किसी तरह की परेशानी ना हो इसको ध्यान में रखते हुए बॉर्डर सील कर दिए गए हैं. इससे किसी तरह से हालात पर काबू किया गया है. इससे पहले किसान NH-9 के नीचे यूपी गेट पर प्रदर्शन कर चुके हैं, इन लोगों ने फिर यहीं पर अपना ठिकाना बना लिया है.

बता दें, 29 नवंबर को सैकड़ों किसान यूपी के गाजीपुर-दिल्ली बॉर्डर पर धरना देकर बैठे थे. खबर के मुताबिक कृषि कानूनों के विरोध में किसान प्रदर्शनकारी गाज़ीपुर बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. एक प्रदर्शनकारी किसान ने कहा कि वे दिल्ली कूच करेंगे और जंतर-मंतर या संसद भवन जाएंगे.