नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव ने बुधवार को कहा कि किसान मोदी सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में हैं और वह उनकी आय दोगुनी करने के लिए लगातार काम कर रही है। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ राजनीतिक दल प्रासंगिक बने रहने के लिए उनको गुमराह कर रहे हैं।

दिल्ली की सीमाओं टीकरी, गाजीपुर और सिंघू बॉर्डर पर केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के छह महीने पूरे होने पर किसान संगठनों द्वारा ‘काला दिवस’ मनाने के बीच उनकी यह टिप्पणी आई है।

विपक्षी दलों पर प्रहार करते हुए यादव ने कहा कि कांग्रेस ने तीनों कृषि कानूनों का विरोध कर कृषि क्षेत्र में सुधार पर यू-टर्न लिया है।

यादव ने कहा कि संप्रग सरकारों के दौरान इन कानूनों को कांग्रेस ने जरूरी सुधार बताया था और अब विपक्षी दल अन्य ‘‘अवसरवादी’’ दलों के साथ मिलकर इन कानूनों के बारे में किसानों को गुमराह कर रहे हैं ताकि प्रासंगिक बने रहें।

भाजपा महासचिव ने कहा कि लोग उन्हें देख रहे हैं।

यादव ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार का ट्रैक रिकॉर्ड सब कुछ कह रहा है और यह स्पष्ट है कि किसान इसकी शीर्ष प्राथमिकता में हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने हाल में करोड़ों किसानों को लाभ प्रदान किया है।

उन्होंने कहा कि इसने सीधे किसानों को धन अंतरण कर पंजाब के किसानों से रिकॉर्ड मात्रा में अनाज खरीदा है।

यादव ने कहा कि एक तरफ सरकार जहां कोविड-19 से देश को सुरक्षित करने में कड़ी मेहनत कर रही है, वहीं कई कदम उठाकर किसानों का सहयोग करने के लिए काम कर रही है।