किसान संगठनों के नेताओं ने दावा किया है कि उन्हें 26 जनवरी को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड की अनुमति मिल गई है. बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड की अनुमति दे दी है.

किसान प्रतिनिधियों और पुलिस की बैठक के बाद योगेंद्र यादव ने कहा, 26 जनवरी किसान इस देश में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड करेगा. पांच दौर की वार्ता के बाद ये सारी बातें कबूल हो गई हैं. सारे बैरिकेड खुलेंगे, हम दिल्ली के अंदर जाएंगे और मार्च करेंगे. रूट के बारे में मोटे तौर पर सहमति बन गई है.

उन्होंने कहा, हम एक ऐतिहासिक और शांतिपूर्ण परेड निकालेंगे और गणतंत्र दिवस परेड या सुरक्षा व्यवस्था पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.

भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह ने अपील करते हुए कहा, मैं परेड में भाग लेने वाले किसानों से अनुशासन बनाए रखने और समिति द्वारा जारी निर्देश का पालन करने करें. चूंकि हजारों किसान इस परेड में हिस्सा लेंगे, लिहाजा इसका कोई एक मार्ग नहीं रहेगा.

ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए पंजाब और हरियाणा के किसानों के कई जत्थे अपनी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों एवं अन्य वाहनों को लेकर शनिवार को रवाना हुए. ये जत्थे शनिवार रात तक टीकरी बॉर्डर पर पहुंच सकते हैं. किसान नेताओं ने बताया कि इसी तरह पंजाब के होशियारपुर और फगवाड़ा क्षेत्र से भी क्रमश: 150 एवं 1,000 ट्रैक्टरों का जत्था रवाना हुआ है.