कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 18वें दिन भी जारी है. सरकार और किसानों के बीच ये मामला सुलझ नहीं पा रहा है और हर दिन किसानों का प्रदर्शन आक्रोशित रूप लेता जा रहा है. हजारों की संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर धरना देकर बैठे हैं. कानूनों के विरोध में आज किसान संगठनों के नेता एक दिन का भूख हड़ताल करेंगे. किसानों का कहना है कि विरोध प्रदर्शन देश के दूसरे हिस्सों में आयोजित किए जाएंगे. किसान आंदोलन से जुड़ी अब तक की 10 बातें.

किसान आंदोलन से जुड़ी 10 बातें
1
कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 18वें दिन जारी है. दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान धरना दे रहे हैं.
2
कानूनों में संशोधन के सरकार के प्रस्ताव को खारिज करने के बाद किसान संगठनों ने विरोध प्रदर्शनों को और भी तेज करने की चेतावनी दी है.
3
दिल्ली-जयपुर हाइवे पर भी सैकड़ों किसानों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए धरना दिया है. एक बार बंद करने के बाद फिर हाइवे आंशिक रूप से खोल दिया गया है.
4
किसानों के समर्थन में आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी एक दिन का उपवास रखेंगे. इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री ने दी थी.
5
सिंघु बॉर्डर पर रविवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसान नेता गुरुनाम सिहं चिढूनी ने बताया कि किसानों की एक दिन की भूख हड़ताल सुबह 8 बजे से 5 बजे तक की जाएगी.
6
भारतीय किसान यूनियन दोआबा के अध्यक्ष मनजीत सिंह ने कहा, हम सरकार को ये संदेश (भूख हड़ताल से) देना चाहते हैं कि जो अन्नदाता देश का पेट भरता है उसको आज आपकी गलत नीतियों की वजह से भूखा बैठना पड़ रहा है.
7
किसान मज़दूर संघर्ष कमेटी पंजाब के दयाल सिंह ने बताया, 'काले कानूनों की वजह से अन्नदाता भूख हड़ताल कर रहे हैं.'
8
रविवार को अमित शाह ने अपने आवास पर पंजाब के बीजेपी नेताओं और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ किसानों के मुद्दों पर चर्चा की है. इस दौरान केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश उपस्थित रहे.
9
हरियाणा-दिल्ली हाइवे पर किसानों का धरना जारी और किसानों की एक ही मांग है कि तीन नए क़ानून को रद्द किए जाएं. किसानों के अनुसार, ये क़ानून किसानों के ख़िलाफ़ और कॉर्पोरेट के हक में है. आज किसाानों ने कानूनों के विरोध स्वरूप एक दिन का उपवास रखा है.
10
उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में बाजना स्थित मोरकी कॉलेज मैदान में धरना दे रहे किसान नेता रामबाबू कटेलिया को पुलिस ने शनिवार रात हिरासत में लिया. इससे नाराज महिलाओं ने रविवार की सुबह अवाखेड़ा गांव के पास यमुना एक्सप्रेस-वे पर पेड़ डालकर जाम लगा दिया. महिलाओं ने हिरासत में लिए गए किसान नेता को छुड़वाने की मांग की. यह मांग पूरी होने के बाद ही महिला किसानों ने रास्ता खोला. (इनपुट्स- PTI और ANI)