करीब 33 दिनों से दिल्ली में बुराड़ी के निरंकारी समागमी ग्राउंड में प्रदर्शन कर रहे किसानों ने सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए अनोखा काम किया है. पहले किसानों ने ग्राउंड में प्याज की फसल उगाई और अब ग्राउंड का नाम ही बदल दिया. किसानों का कहना है कि सरकार हमारी बात नहीं सुन रही तो सोचा यहीं अपना गांव बसा लें.

ANI के मुताबिक, 'दिल्ली में बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड में विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने ग्राउंड को 'किसान पुरा' नाम देते हुए वहां पर एक बैनर लगाया है. एक प्रदर्शनकारी ने बताया, "किसान 33 दिनों से अपनी मांगों को लेकर यहां बैठा है और यहां गांव की तरह बस चुका है, आज गांव का नामकरण किया गया.'

बता दें, पंजाब, हरियाणा और उत्तर-प्रदेश में दिल्ली से लगी सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों का विरोध केंद्र द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों को लेकर है. हालांकि इस विषय में सरकार और किसानों की कई बार बातचीत हो चुकी है लेकिन यह बैठक बेनतीजा ही निकली. पिछले दिनों खबर थी कि ग्राउंड के एक हिस्से में प्याज की फसल उगा दी गई है, इसपर किसानों का कहना था कि सरकार अगर हमारी बात नहीं मानेगी तो हम पूरे ग्राउंड में ऐसा ही करेंगे.