पन्ना, 22 मई (भाषा) मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में एक दुर्लभ दृश्य सामने आया है। यहां एक बाघिन की मौत के बाद उसके चार बाघ शावकों की देखभाल नर बाघ पिता कर रहा है।

यहां पन्ना टाइगर रिजर्व (पीटीआर) में बाघिन पी-213 (32) की मौत के बाद उसके चार बाघ शावकों की जिम्मेदारी नर बाघ पी-243 ने संभाल ली है।

पीटीआर के क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने शनिवार को बताया कि इसका एक वीडियो जारी किया गया है। इसमें चारों शावक नर बाघ के आसपास अठखेलियां करते दिखाई दे रहे हैं।

उन्होंने बताया कि बाघ शावक 6 से 8 माह के है। हम इनकी निगरानी कर रहे हैं। इसके लिये नर बाघ को रेडियो कॉलर पहनाया गया है। अगर इन शावकों की नर बाघ लगातार देखभाल करता रहा तो इन्हें दूसरी जगह ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

शर्मा ने कहा कि गत 12 मई को बाघिन पी-213 के बाएं पैर में सूजन देखी गई। इसके बाद उसका उपचार किया गया लेकिन 15 मई को पार्क के गहरी घाट रेंज में बाघिन का शव पाया गया। बाघिन के मौत प्राकृतिक कारणों से हुई प्रतीत होती है।

इसके बाद इन शावकों को लेकर पार्क प्रबंधन सहित वन्यजीव प्रेमियों को चिंतित देखा जा रहा था। नर बाघ द्वारा बच्चों की देखरेख एवं भोजन व्यवस्था संभालने पर वन्य प्राणी प्रेमियों एवं पार्क प्रबंधन ने राहत की सांस ली है।

वर्ष 2018 की गणना के अनुसार मध्यप्रदेश में बाघों की संख्या 526 है। मध्यप्रदेश को देश में बाघ राज्य के रूप में जाना जाता है।

भाषा दिमो

जोहेब

जोहेब