मडगांव, 28 अप्रैल (भाषा) नॉकआउट की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी एफसी गोवा की टीम गुरुवार को यहां यूएई की अल वाहदा के खिलाफ ग्रुप ई के अपने अंतिम मैच में एएफसी चैंपियन्स लीग (एसीएल) फुटबॉल टूर्नामेंट की अपनी पहली जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी।

गोवा की टीम अगर जीत दर्ज करने में सफल रहती है जो टूर्नामेंट में जीत दर्ज करने वाला पहला भारतीय क्लब बनेगा।

एफसी गोवा के पास सोमवार को कतर की अल रेयान के खिलाफ जीत दर्ज करने का मौका था लेकिन 89वें मिनट में गोल गंवाने के कारण टीम को 1-1 से ड्रॉ से संतोष करना पड़ा।

पांच मैचों में सिर्फ तीन अंक के साथ एफसी गोवा की टीम ग्रुप से राउंड आफ 16 में जगह बनाने की दौड़ से बाहर हो चुकी है। पिछले साल के उप विजेता पर्सिपोलिस एफसी और अल वाहदा के पांच-पांच मैचों में क्रमश: 12 और 10 अंक हैं।

अल वाहदा की टीम सोमवार को अपने पिछले मैच में 1-0 की जीत के बाद गुरुवार को होने वाले मुकाबले में बढ़े हुए आत्मविश्वास के साथ उतरेगी।

एफसी गोवा की टीम का मनोबल भी बढ़ा हुआ होगा क्योंकि टीम के पास 17 अप्रैल को पहले चरण का मुकाबला जीतने का मौका था।

उस मैच में अबु धाबी की टीम ने अधिकांश समय गेंद को अपने कब्जे में रखा लेकिन एफसी गोवा ने अच्छा काउंटर अटैक करते हुए गोल करने के दो शानदार मूव बना जिसमे ब्रेंडन फर्नांडिस का गोल पोस्ट से टकराया शॉट भी शामिल था।

भाषा सुधीर मोना

मोना