कोलकाता, 22 मई (भाषा) पश्चिम बंगाल में ‘ब्लैक फंगस’ से मौत का पहला मामला सामने आया है। कोलकाता के एक अस्पताल में 32 वर्षीय महिला की म्यूकरमाइकोसिस या ब्लैक फंगस के कारण मौत हो गई।

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि कोलकाता के हरिदेवपुर की रहनेवाली शम्पा चक्रवर्ती को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद शंभूनाथ पंडित अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

उन्होंने बताया कि शुक्रवार सुबह महिला की ‘ब्लैक फंगस’ के कारण मौत हो गई। महिला मधुमेह से पीड़ित थी और इंसुलिन ले रही थी।

वर्तमान में राज्य में पांच मरीज इस बीमारी का इलाज करा रहे हैं।

अधिकारी ने कहा, ‘‘ये सभी मरीज पड़ोसी राज्य बिहार और झारखंड से हैं। हम लगातार उनकी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।’’

स्वास्थ्य विभाग ने ‘ब्लैक फंगस’ मामलों से निपटने के लिए एक विशेषज्ञ समिति गठित की है और एक परामर्श भी तैयार किया है।

परामर्श में आंखों या नाक में दर्द, बुखार, माथा दर्द, जुकाम, सांस लेने में दिक्कतें, उल्टी जैसे कुछ लक्षण बताए गए हैं।

परामर्श में कहा गया है कि अनियंत्रित मधुमेह, स्टेरॉयड ले रहे मरीज, आईसीयू में लंबे वक्त रहने, पहले से कई रोगों से ग्रस्त होने की स्थिति में फंगल संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है। लोगों को मास्क पहनने, अन्य सावधानी बरतने की भी सलाह दी गयी है।