उत्तर प्रदेश की राजनीति में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का नाम बहुत प्रचलित है. मायावती उत्तर प्रदेश की 4 बार मुख्यमंत्री रह चुकी हैं और दलित समाज के लिए हमेशा खड़ी रहीं. इन दिनों मायावती किसानों के समर्थन में सोशल मीडिया पर कुछ ना कुछ लिख रही हैं. मायावती आज अपना 65वां जन्मदिन मना रही हैं और उनके तमाम समर्थक उन्हें जन्मदिन की बधाई दे रहे हैं. आज के दिन हम आपको उनसे जुड़ी 10 रोचक बातें बताएंगे.

मायावती से जुड़ी 10 रोचक बातें
1
मायावती का जन्म 15 जनवरी, 1956 को दिल्ली के सरकारी अस्पताल श्रीमती सुचेता कृपलानी में हुआ था. इनका पूरा नाम मायावती नैना कुमारी हैं.
2
मायावती के पिता प्रभु दास एक सरकारी कर्मचारी थे जो दूरसंचार विभाग में क्लर्क के पद पर तैनात थे.
3
 मायावती की माता रामरती पढ़ी-लिखी जरूर नहीं थी, लेकिन समझदारी में किसी से कम नहीं थीं. दिल्ली जैसे शहर में वह अपने दम पर दूध की डेयरी चलाती थीं और परिवार की आर्थिक मदद करती थीं.
4
मायावती को दलित आंदोलन की पहली समझ बाबा साहब अंबेडकर की जीवनी और किताबें पढ़कर आई थी. इन किताबों से मायावती का पहला परिचय उनके पिता ने कराया था और बाबा साहेब के बारे में बताया था.
5
साल 1984 में जब बसपा की स्थापना हुई तो मायावती कांशीराम की टीम का हिस्सा बनी थीं. इन्होंने अपना पहला लोकसभा चुनाव उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के कैराना लोकसभा सीट से लड़ी थीं.
6
3 जून, 1995 को मायावती पहली बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनी थीं. इसी के साथ उन्होंने उत्तर प्रदेश की राजनीति में दो रिकॉर्ड हासिल किए जिसमें पहला यूपी की सबसे युवा सीएम और दूसरा देश की पहली महिला दलित मुख्यमंत्री बनीं.
7
मायावती ने एलएलबी और बीएड की पढ़ाई की थी और फिर यूपीएससी की तैयारी करने लगी थीं लेकिन दलितों की स्थिति समझने के बाद उन्होंने राजनीति में आने का फैसला लिया.
8
मायावती ने अपने चौथे कार्यकाल के दौरान 26 प्रभावशाली लोगों को अलग-अलग आरोपों में सरकार या पार्टी से निकाल दिया था. इसमें मंत्री, मंत्री स्तर के दर्जा प्राप्त लोग, सांसद और विधायक शामिल थे.
9
साल 2007 के विधानसभा चुनाव में बसपा को पूरी बहुमत मिली थी. 13 मई, 2007 से 7 मार्च 2012 तक पूरे 5 साल तक उत्तर प्रदेस की मुख्यमंत्री रही हैं.
10
पहली बार 13 जून, 1995 से 18 अक्टूबर 1995 तक मायावती मुख्यमंत्री बनी रहीं. मायावती भारत की पहली दलित महिला हैं जो किसी राज्य की मुख्यमंत्री बनीं.