मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी है, जिसमें एंटीलिया मामले में फंसे सचिन वाजे को लेकर कहा गया है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने वाजे से हर महीने 100 करोड़ रुपये जुटाने को कहा था. इस आरोप से महाराष्ट्र कि सियासत में बम फट गया है. वहीं, विपक्ष अब गृह मंत्री के इस्तीफे की मांग कर रहा है.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर कही ये बात

परमबीर सिंह के आरोप पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख का कहना है कि, परमबीर सिंह खुद को कानूनी कार्रवाई से बचाने के लिए ऐसा आरोप लगा रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः नागपुर में नहीं थम रहा कोरोना वायरस का संक्रमण, बढ़ाया गया 31 मार्च तक लॉकडाउन

आपको बता दें, परमबीर सिंह हाल ही में मुंबई पुलिस के कमिश्नर पद से हटाए गए हैं. उन्हें होमगार्ड विभाग की जिम्मेदारी दी गई है. हालांकि, इस कार्रवाई के बाद परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को एक चिट्ठी लिखी, जिसमें उन्होंने बताया कि अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रुपये जुटाने को कहा था.

उन्होंने कहा कि वाजे को गृह मंत्री ने कई बार अपने सरकारी आवास पर बुलाया था. यहां उन्हें रुपये जमा करने के निर्देश दिए गए थे.

यह भी पढ़ेंः Post Office में है IPPB सेविंग अकाउंट तो अब लगेगा ये नया चार्ज, जान लें

अब इस पूरे मामले में सियासत शुरू हो गई है. बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा, मुंबई की पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने पत्र के माध्यम से जो आरोप लगाए हैं वो गंभीर हैं... महाराष्ट्र के गृह मंत्री को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए या मुख्यमंत्री को उन्हें हटाना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः Instagram पर अब होगा बच्चों का भी कब्जा, इन तरीकों से कर सकते हैं इस्तेमाल

उन्होंने कहा, इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. केंद्रीय एजेंसी इसकी जांच करें. अगर राज्य सरकार को लगता है कि हमें केंद्रीय एजेंसी से जांच नहीं करानी तो कोर्ट मॉनिटर इंक्वायरी होनी चाहिए.

  यह भी पढ़ेंः PPF के बदल गए हैं नियम, किस्त देनदारी को लेकर हुआ है ये बदलाव