पूर्व क्रिकेटर और कप्तान शाहिद अफरीदी ने पाकिस्तान के पूर्व महान खिलाड़ियों से देश की युवा प्रतिभाओं को निखारने के लिये भारत के महान क्रिकेटर राहुल द्रविड़ के नक्शेकदमों पर चलने की सलाह दी.

पूर्व भारतीय खिलाड़ी द्रविड़ 2016 से 2019 तक भारत की अंडर-19 और भारत ए टीमों के कोच रहे तथा वह इस समय राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख हैं.

लाहौर में एक कार्यक्रम में बात करते हुए अफरीदी ने कहा कि द्रविड़ ने अंडर-19 स्तर पर युवा भारतीय खिलाड़ियों के साथ काफी मेहनत की है.

अफरीदी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमें बेहतरीन प्रतिभाओं की कमी का सामना करना पड़ रहा है इसलिये जो भी युवा आ रहे हैं, उन्हें हमारे पूर्व महान खिलाड़ियों द्वारा सही तरह से निखारने की जरूरत है. ये इन युवा खिलाड़ियों के साथ काफी कुछ कर सकते हैं. ’’

उन्होंने कहा कि महान खिलाड़ी जैसे इंजमाम उल हक, यूनिस खान और मोहम्मद युसूफ पाकिस्तान की युवा क्रिकेट प्रतिभाओं को तराशने में काफी कुछ कर सकते हैं.

मोहम्मद आमिर के मुद्दे पर और उनके मिसबाह उल हक और वकार यूनिस की कोचिंग में खेलने से इनकार के बारे में अफरीदी ने कहा कि यह पाकिस्तान क्रिकेट की पुरानी समस्या है.

उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक की मेरे समय में भी गेंदबाजों को कोचों से समस्या होती थी. मेरे वकार से मुद्दे जग जाहिर हैं. मुझे लगता है कि यह तभी रोका जा सकता है जब बोर्ड (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड) इन नाराज खिलाड़ियों से बात करें और उनकी बात सुनें. ’’