पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव ने शुक्रवार को कहा कि कुख्यात अपराधी विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने का पुलिस का दावा ‘‘फर्जी’’ प्रतीत होता है.

यादव ने आरोप लगाया कि उसकी हत्या की गई है क्योंकि वह कई बड़े ‘‘राज’’ खोल सकता था.

यादव ने कहा,‘‘ विकास दुबे की यह मुठभेड़ (मारा जाना) फर्जी प्रतीत हो रहा है और फिल्म से उठायी गयी (कहानी) है. यह गैरकानूनी तरीका है. यह व्यक्ति कई बड़े राज खोल सकता था कि किसने इसे संरक्षण दिया.....जिन्होंने इसे संरक्षण दिया वह विकास दुबे के बराबर ही आरोपी हैं और देश को उन्हें जानने की जरूरत है.’’

गौरतलब है कि कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले का मुख्य आरोपी और कुख्यात अपराधी विकास दुबे शुक्रवार की सुबह कानपुर के भौती इलाके में पुलिस के साथ कथित मुठभेड़ में मारा गया.