ज्योर्तिलिंग श्री महाकालेश्वर मंदिर में शनिवार सुबह फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने सपत्नी बाबा महाकाल के दर्शन किये. मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश बंद होने से इमैनुअल लेनिन ने नंदी हॉल से ही दर्शन किया. मंदिर के पुजारी रमण त्रिवेदी ने पूजा-अर्चना संपन्न करवाई.

महाकाल मंदिर समिति ने लेनिन को उपहार में बाबा महाकाल की तस्वीर दी. लेनिन रामघाट और इंदौर रोड स्थित प्राचीन शनि मंदिर के दर्शन करते हुए इंदौर के लिए रवाना हो गए.

इधर महाकाल में लेनिन के पहुंचने की जानकारी केवल पुलिस और प्रशासन के पास ही थी. दुनिया के कई मुस्लिम देशों में फ्रांस के खिलाफ चल रहे विरोध को देखते हुए फ्रांस के राजदूत के महाकाल मंदिर पहुंचने से पहले ही सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी थी.