Ganesh Chaturthi 2021 इस साल 10 सितंबर से शुरू हो रहा है. भगवान गणेश का ये महापर्व गणेश चतुर्थी भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को हर  साल मनाते हैं. सभी देवों में में भगवान गणेश को सर्वप्रथम और प्रथम आराध्य भगवनान माना गया है. गणेश पूजा करने और उन्हें प्रसन्न करने का ये पर्व इस साल 10 सितंबर को गणपति बप्पा विजारेंगे और यह 19 सितंबर तक चलने वाला है क्योंकि इसी दिन अनन्त चतुर्दशी पड़ेगा. इसी दिन बप्पा की विदाई भी की जाती है जो लोग अपने घरों में गणपति बप्पा को स्थापित करते हैं.

यह भी पढ़ें: Ganesh Chaturthi: बप्पा मोरया की मूर्ति स्थापित करने से पहले जान लें ये 6 नियम

गणेश चतुर्थी पूजन का शुभ मुहूर्त

विशेषज्ञों के मुताबिक, गणेश स्थापना का शुभ मुहूर्त 10 सितंबर की दोपहर 12 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा जो रात 10 बजे तक रहेगा. गणेश जी की पूजा करते समय 'ऊं गं गणपतये नम:' मंत्र का जाप करें जिससे हर किसी की मनोकामनाएं पूरी होंगी. इसके अलावा उन्हें दुर्वा, पान, सुपारी, सिंदूर गणेश भगवान को अर्पित करें. भगवान गणेश को भोग में मोदक या मोतीचूर के लड्डू लगाना चाहिए क्योंकि ये दोनों व्यंजन उन्हें अतिप्रिय हैं. वैसे तो गणेश उत्सव देश के कई राज्यों में मनाया जाता है लेकिन इसकी सबसे ज्यादा धूम महाराष्ट्र में देखने को मिलती है. इस राज्य के अलावा गुजरात, कर्नाटक, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और आंध्र प्रदेश में भी गणेश उत्सव को धूमधाम से मनाया जाता है.

यह भी पढ़ेंः Hartalika Teej 2021: कब है हरतालिका तीज? जानें शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और महत्व

#GaneshFestival #Dharm #Religion