यूपी में हुए हाथरस की घटना के बाद मध्यप्रदेश के खरगोन जिले से 55 किलोमीटर दूर झिरन्या तहसील में 15 साल की युवती के अपहरण और गैंगरेप की घटना सामने आई है. बताया जाता है कि पानी मांगने के बहाने घर में घुसे तीनों दरिंदों ने पहले भाई को पीटा और फिर युवती को उठा ले गए.

घटना के बाद पीड़िता ने पुलिस को बताया कि तीन लोग मुंह पर कपड़ा बांधे थे. तीनों ने पहले उसके साथ दुष्कर्म किया फिर उसकी बुरी तरह से पिटाई की और उसे झाड़ियों में फेंक दिया. इसके साथ ही उसे धमकी भी दी कि इस बारे में वह किसी को नहीं बताए.

इस घटना पर खरगोन एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि, वारदात में तीन लोग शामिल हैं, जो घटना के बाद से फरार हैं. पीड़ित किशोरी अपने 19 साल के भाई के साथ खेत में झोपड़ी बनाकर रहती है. दोनों उसी खेत में मजदूरी करते हैं. पीड़िता के भाई ने बताया कि, मंगलवार रात 1 बजे तीन युवक आए, उन्होंने पीने के लिए पानी मांगा. पानी लेने के बाद तीनों चले गए. दस मिनट बाद तीनों वापस आए और इस बार शराब मांगी. भाई के मना करने पर तीनों 15 साल की बहन को अपने साथ उठाकर ले गए. भाई ने विरोध किया तो उसे लकड़ी से खूब पीटा और बहन को लेकर चले गए. भाई ने खेत मालिक और परिजनों को फोन किया. परिजनों के पहुंचने के बाद किशोरी को ढूंढना शुरू किया तो वह रास्ते में पड़ी मिली.

पुलिस ने बताया कि, तीनों आरोपियों को पकड़ने के लिए टीम लगाई है. सभी थाना क्षेत्रों में नाकाबंदी कर आरोपियों की तालाशा जारी है. जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा.

बता दें कि, यूपी के हाथरस में भी इसी तरह की घटना को अंजाम दिया गया था. जब लड़की खेत में काम कर रही थी तो कुछ दबंगों ने जबरदस्ती उसे उठा लिया था और उसके साथ अत्याचार किया. वहीं, घटना के बाद इलाज के दौरान पीड़िता की मंगलवार को ही मौत हो गई थी.